Letter to Cork Summary in English and Hindi by Dean Mohammed

Letter to Cork Summary in English and Hindi Pdf. Letter to Cork Poem is written by Dean Mohammed.

Learncram.com has provided Letter to Cork Objective Questions and Answers Pdf, Chapter Story Ka Meaning in Hindi.

Letter to Cork Summary in English and Hindi by Dean Mohammed

Letter to Cork by Dean Mohammed About the Author

Dean Mohammed was born in 1759 and died in 1851. He was a native of Patna. He is regarded as the first known Indian author in English. He was in the service of The East India Company. During the period of his service, he traveled to different parts of India, Ireland and England.

Letter to Cork Written by Dean Mohammed Introduction to the Chapter

Dean Mohammed wrote his observations and experiences in a series of letters addressed to a friend named Cork. This letter describes the features and the way of selling and purchasing of elephants at that time in India.

Letter to Cork Summary in English

The writer in his letter to his friend describes an animal (Elephant) commonly known as the largest one in the universe. He thinks that the description would be the subject of entertainment as well as excitement and wonder. He gives a lively description of the physical appearance of the elephant. It is from twelve to fifteen feet high and seven feet broad. He describes each and every organ of this huge animal. It is surprising that in comparison with its body and other organs its eyes are very small. So far as its teeth are concerned, they are of two types-one is grinder and the other is to show. Teeth outwardly in male are comparatively stronger and larger than that of female. The teeth of the male sometimes grow to the length of ten feet. This powerful animals is so strong that it can lift a prodigious weight. It is so delicate in the sensation of feeling that it can take the smallest piece of coin from the ground. It delights much in water. It can swim a great way.

Elephants reside near hills and lakes where there food and water are available. The people emloyed to catch them dig deep trenches in their direction and conceal them with reeds covered over with earth and grass. The elephants, on their way to the watering places, unaware of the danger before them, fall into the pits. These men often risk their lives in the execution of such hazardous projects. The old elephants sometimes escape the danger while young ones become an easy prey. For some days, they are kept without food so that they may not resist. Applying technique, they are tamed. They are managed to learn instructions by their masters.

Elephants are commonly sold by measurement. Some of those animals, which are young and well-trained, are purchased at the rate of 150 rupees per cubit. They are measured from the head to the tail.

Next to the elephant, regarding figure, is the rhinoceros. It is called by the modern Indians, abadu. It is like the wild boar but it is much larger than the wild boar.

In the eastern territories, there is another useful animal which is known as the camel, It is useful either for carrying burden or dispatch. It travels at least seven or eight miles an hour.

Letter to Cork Summary in Hindi

लेखक अपने दोस्त को लिखे पत्र में एक ऐसे जानवर (हाथी) का वर्णन करता है, जिसे दुनिया में सबसे विशाल माना जाता है। लेखक समझता है कि यह वर्णन मनोरंजन, जिज्ञासा और आश्चर्य का विषय होगा। वह हाथी के आकार-प्रकार का जीवंत वर्णन करता है। यह लगभग बारह से पन्द्रह फीट ऊँचा और सात फीट चौड़ा होता है। वह इस विशाल जन्तु के एक-एक अंग का वर्णन करता है। यह आश्चर्य की बात है कि इसके शरीर और अन्य अंगों की तुलना में उसकी आँखें बहुत छोटी होती हैं। जहाँ तक उसके दाँतों की बात है, वे दो प्रकार के होते हैं-एक, जिनसे वह खाने का कार्य करता है और दूसरे, जो सिर्फ दिखाने को होते हैं। नर-हाथियों के बाहरी दाँत मादा की तुलना में अधिक बड़े और मजबूत होते हैं। किसी-किसी नर के दाँत दस फीट लम्बे तक होते हैं। यह शक्तिशाली जानवर इतना मजबूत होता है कि वह अत्यधिक भारी वजन उठा सकता है। इसकी संवेदनाएँ इतनी सूक्ष्म होती है वह एक सिक्का को भी जमीन से उठा सकता है। पानी में इसकी गति बड़ा ही मनोरंजन दिखती है। यह लम्बी दूरी तक तैर सकता है।

हाथी ज्यादातर पहाड़ियों एवं झीलों के आस-पास पाये जाते हैं, जहाँ उनके भोजन एवं पानी की व्यवस्था होती है। उन्हें पकड़नेवाले लोग उनके मार्ग में गहरी खाईयाँ खोदकर उन्हें खर-पतवार एवं मिट्टी से ढंक देते हैं। हाथी अपने मार्ग के खतरों से अनभिज्ञ होने के कारण पानी पीने के लिए जाते वक्त उनमें गिर जाते हैं। पकड़नेवाले लोग अपनी योजना को कार्य-रूप देने में अक्सर अपनी जान जोखिम में डाल लेते हैं। प्रौढ़ हाथी कभी-कभी बच निकलते हैं, लेकिन बच्चे आसानी से शिकार बन जाते हैं। कुछ दिनों तक इन्हें भूखे रखे जाते हैं, ताकि वे प्रतिरोध नहीं कर सके। तकनीकों के प्रयोग से ये हाथी पालतू बनाये जाते हैं। उन्हें मालिकों द्वारा आदेशपालन के पाठ पढ़ाए जाते हैं।

हाथियाँ सामान्यतः माप के अनुसार बिकते हैं। कछ यवा एवं प्रशिक्षित हाथियों एक सौ पचास रुपये प्रति क्यूबिट के हिसाब से बिकते हैं। इनकी माप सिर से पूंछ तक ली जाती है। ___हाथी के बाद आकार के हिसाब से राइनोसिरस (गैंडा) को माना जाता है। यह आधुनिक भारतीयों द्वारा ‘अबादु’ कहे जाते हैं। यह देखने में जंगली सूअर की तरह होता है, लेकिन इसका आकार जंगली सूअर से बड़ा होता है।

पूर्वी भू-भाग में एक दूसरा जानवर, जो बहुत उपयोगी मान. जाता है, वह ऊंट है। इसका उपयोग यात्रा एवं सामान ढोने में होता है। यह कम-से-कम सात से आठ मील प्रति घंटा तक का सफर तय करता है।

Word-Meanings: Quadruped-चौपाया। Grinder-हाथी का चबानेवाला दाँत। Grubip-जड़ें, पौधे आद उखाड़ना। Extremity-पराकाष्ठा। Capuchin-जाना लबादा तथा टोपी।

Letter to Cork Hindi Translation

1. of all the………………………….swim a great way.
अनुवादः पूर्व में या कहीं भी विशाल आकार में कोई भी पशु हाथी के तुल्य नहीं है। आपके आश्चर्य को जागृत करने के लिए और साथ ही साथ आपका मनोरंजन करने के लिए मैं आपको इस चौपाए का विशेषतः वर्णन करता हूँ, जो संसार में सब में विशाल है। यह बारह से पन्द्रह फुट ऊंचा होता है, और सात फुट चौड़ा। इसकी त्वचा पेट के समीप इतनी कठोर होती है कि तलवार उसमें घुस नहीं सकती। इसकी आँखें अति छोटी, होती हैं, कान बड़े, शरीर गोल और भरा हुआ और पीठ मेहराब की भांति उठी होती है। यह काले से रंग का होता है और बहुत सिलवटों वाला होता है। इसके जबड़े के दोनों ओर मुंह के अन्दर चार-चार दाँत या दाढ़ें होती हैं। और दो दाँत बाहर निकले हुए होते हैं। नर (हाथी) में वे अधिक मजबूत व मोटे होते हैं। मादा में वे तीखे व छोटे होते हैं। दोनों नर व मादा जो तेज (दाँत) होता है उसे रक्षा हथियार के रूप में प्रयोग करते हैं, और दूसरे को जो कुन्द होता है पेड़ों और पौधों में भोजन खोजने के लिए प्रयोग में लाते हैं। नर के दाँत कभी-कभी दस फुट तक लम्बे हो जाते हैं; और तीन सौ पाउंड तक भारी होने का भी पता चला है। मादा के दाँत यद्यपि कम (भारी) होते हैं, परंतु अति मूल्यवान हैं। वे प्राकृतिक रूप से दस वर्ष में एक बार अपने दाँत गिरा देते हैं और बड़ी सावधानी से धरती में दबा देते हैं, और ऐसा समझा जाता है कि मनुष्य के हाथ न लगने से बचाने के लिए वे ऐसा करते हैं। हाथी. की जीला छोटी परन्तु चौड़ी होती है पाँव गोल व बड़े होते हैं और टांगों में जोड़. होते हैं जो मुड़ सकते हैं। माथा चौड़ा और उठा हुआ होत है। और पूंछ सूअर की पूंछ से मिलती-जुलती है। और इस प्राणी का खून अन्य किसी भी प्राणी से ठंडा होता है। परन्तु जो अंग विशिष्ट रूप से इसे भिन्न बनाता है वह इसकी सुंड है। यह विशेष अंग टेढ़-मेढा, विकट और . वशवर्ति, लगभग सात फुट लम्बी और तीन फुट गोलाई में होती है, और सिरे तक घटती जाती है। नाक के समीप जड़ में मार्ग होते हैं, एक सिर में जाता है, दूसरा मुँह में, पहले के द्वारा या सांस लेत है, और दूसरे के द्वारा भोजन। भोजन खिलाने के लिए सूंड हाथ का काम करती है, और रक्षा के लिए हथियार का। यह पशु इतना बलवान होता है कि यह भारी भार उठा सकता है और स्पर्श करने की इन्द्री इतनी कोमल होती है, कि यह छोटे से छोटा सिक्का धरती से उठा सकता है। उसे पानी में बड़ा आनन्द आता है और बहुत दूर तक तैर लेता है।

2. They are taken ……………………………………………… in Europe.
अनुवादः भारत के विभिन्न भागों में, जब ये पर्वतों से जहाँ वे चरते हैं, नदियों व.झीलों पर पानी पीने नीचे आते हैं तो इन्हें बड़ी चालाकी से पकड़ा जाता है। होती-वाली अर्थात् वे लोग जो इन्हें पकड़ने के लिए लगाए जाते हैं उनके रास्ते में गहरी खाइयाँ खोद देते हैं जिन्हें वे सरकण्डों. पर मिट्टी व घास डालकर छुपा देते हैं। पानी पीने के स्थान पर जाते समय, और अपने सम्मुख खतरे से अनभिज्ञ हाथी इन चालाक लोगों द्वारा बनाए गडदों में गिर पड़ते हैं, ये आदमी भी इस खतरनाक कार्य को पूरा करने में अपनी जान भारी जोखिम में डालते हैं। बड़े हाथी किसी साधन से निकल जाते हैं और बचकर जंगल में भाग जाते हैं। परन्तु छोटे हाथी जो अपने पकड़ने वालों का आसान शिकार बन जाते हैं उन्हें इसी दशा में कई दिन तक बिना भोजन के रहना पड़ता है। जब त५. वे दुर्बल हो जाते हैं और कोई विरोध करने के योग्य नहीं रहते। फ़िर उन गड्ढ़ों या खाइयों में से बाहर आने का सुगम नीचे जाने का मार्ग खोल दिया जाता है और उनके गले में पट्टा डाल दिया जाता है। उसके पश्चात् उन पर सवार बैठ जाता है, और एक पालतू हाथी के नेतृत्व में उन्हीं बड़ी कौशलता से समीप के नगर या गाँव में ले जाया जाता है। जब इस प्रकार वे काफी संख्या में इकट्ठे हो जाते हैं तो नवाबों व बड़े आदमियों के प्रयोग के लिए होतीवालियों द्वारा उन्हें नियमित रूप से प्रशिक्षित किया जाता है। और बूढ़े होने पर जब वे उनके मनोरंजन के योग्य नहीं रहते, तो उन्हें कैम्पों का सामान और अन्य बोझ ढोने के कार्य में प्रयोग किया जाता है। उनके सिखाने वालों की निगरानी में उन्हें कोई भी कार्य करना सिखा दिया जाता है और अल्प समय में यूरोप में सबसे प्रसिद्ध घुड़सवारों के घोड़ों की भाँति विनीत बन जाते हैं।

3. It is related of ……………………….of its keeper.
अनुवादः उनमें से एक के बारे में कहा जाता है कि जब उसके मालिक का बच्चा माता-पिता की अनुपस्थिति में कुछ समय तक भोजन न मिलने के कारण पालने में पड़ा रोता रहा, तो इस विशाल परन्तु उदार पशु ने उसे धीरे से उठा कर अपना दूध चुंघाया, और उसके पश्चात् बड़े ध्यान से उसे पालने में लिटा दिया। यह प्यार जो कि हमारी प्रजाति में कृतज्ञता के समान है, महावत के द्वारा दयावान बर्ताव करने के कारण उत्पन्न होता है।

4. An elephant is ………………………………………….each.
अनुवादः हाथी सामान्यतः माप के बेचे जाते हैं और उन पशुओं में से कुछ, जो युवा व सुप्रशिक्षित होते हैं 150 रु० प्रति हाथ (लगभग बीस इंच) की दर से मोल लिए जाते हैं। उन्हें सरि से पूँछ तक मापा जाता है, जो कि लगभग सात हाथ लम्बा होता है, और इस हिसाब से प्रत्येक की राशि एक सौ स्टर्लिं पाऊंड से ऊपर बैठती है।

5. Next to the elephant ……………………. cover the belly.
अनुवादः हाथी के पश्चात् आकार व रूप में गेंडा होता है जिसे आधुनिक भारतीय अबदू कहते हैं। यह जंगली सुअर से भिन्न नहीं होता, परन्तु बहुत बड़ा होता है, मोटे पैर होते हैं और शरीर अधिक भारी-भरकम होता है। उस पर बड़ी-बड़ी कठोर काली परतें होती हैं जो त्वचा से थोड़ी उभरी हुई होती हैं और छोटे वर्गों से बंटी होती हैं और लगभग मगर की परतों के समान होती हैं। उसका सिर बड़ा होता है और पीछे एक हुड की भांति लिपट होता है। उसका मुँह छोटा होता है और उसकी थूथन दूर तक बड़ी हुई होती है और एक बड़े मोटे सींग से लैस होता है जिसके कारण वह दूसरे पशुओं के लिए भयानक बन जाता है। उसकी जिह्वा रेती की भाँति खुरदरी होती है और उसका पेट चमगादड़ जैसे पंखों से आच्छादित होता है।

6. In the eastern …………………… patient under fatigue.
अनुवादः पूर्वी प्रदेशों में बोझ ढोने या शीघ्र जाने के लिए ऊंट से बढ़कर कोई पशु उपयोगी नहीं है। उनमें से कुछ लगभग एक हजार किग्रा० भार तक उठा लेते हैं सात-आठ मील प्रति घंटा से चल सकते हैं। उनके निचले जबड़े के अतिरिक्त दाँत नहीं होते हैं और कमर पर एक कोहान होता है। इतने विशाल पशु संसार में कोई भी पशु इससे कम भुक्कड़ नहीं होता। वे अपना बोझ लदवाने के लिए अपने पेट पर लेट जाते हैं और अपने चालक की आवाज से नियन्त्रित होते हैं। जो उनको पीट कर उन्हें तेज नहीं चला सकते। वे प्राकृतिक रूप से डरपोक होते हैं और थकावट में बहुत धीरज रखते हैं।

Of Remembering God Poem Summary in English and Hindi by Kabir Das

Of Remembering God Poem Summary in English and Hindi Pdf. Of Remembering God Poem is written by Kabir Das.

Learncram.com has provided Of Remembering God Poem Objective Questions and Answers Pdf, Poem Ka Meaning in Hindi, Poem Analysis, Line by Line Explanation, Stanza Wise Summary, Themes, Figures of Speech, Critical Appreciation, Central Idea, Poetic Devices.

Of Remembering God Poem Summary in English and Hindi by Kabir Das

Of Remembering God by Kabir Das About the Poet

Kabir Das (1398–1451) was great Bhakti poet in India. He was a weaver by profession. He openly criticised the cast system and other evils of the contemporary society. He had love for God. He thought that all men are equal before the eye’s of God.

Of Remembering God Written by Kabir Das Introduction to the Poem

“Of Remembering God” is a translation of the poem “Sukh Mein Sumiran Sab Kare” Composed by Kabir Das. The translation is made by Mohan Singh Karki.

Of Remembering God Poem Summary in English

In this poem, Kabir Das is of the opinion that all people remember God when they are in grief and sorrow. On the other hand in happiness and riches nobody remembers God. But the poet says that if one remembers. God in happiness, one can never be in sorrow. The poet is of the view that one who is dead is never in grief because he does not come from the grave to weep, because the grave is a permanent house and he is in peace there.

The poet advised to pray God to sing the glory of God. He says that one who sleeps is greatly damaged. He says that if the sound of thunder is heard even Brahma’s thrown starts to shake. In other words when time comes nobody can be safe.

Kabir advised men to accept Ram. Ram is the only Almighty God. He who leaves Ram is a son without father. It means Ram is only the Father.

Kabir says that the name of Ram is a treasure. He asked people to loot this treasure as much as they can loot because one day God of death will come and the men will go forever.

In the last but one stanza Kabir has described the importance of Guru Both Guru and God are standing side by side. The poet is confused to whom he should pray. But it is greatness of Guru that he gave an indication to God. The poet is obliged to Guru and prays him because God has told him to do so.

Kabir says that if God does not help and he is in sulks, I will go to the shelter of the Guru. But he is very sorry that if Guru is in the sulks God will not help him. It means that a man should respect his Guru. Only when God will be happy.

Of Remembering God Poem Summary in Hindi

प्रस्तुत कविता कबीर द्वारा रचित “सुख में सुमिरन सब करें” कविता का अंगरेजी अनुवाद है। इसका अंगरेजी अनुवाद मोहन सिंह कार्की ने किया है।

इस कविता में कबीर दास का कहना है कि लोग ईश्वर को दुख में याद करते हैं। दूसरे शब्दों में, सुख में कोई भी ईश्वर कारे याद नहीं करता है। लेकिन कवि का कहना है जो सुख में ईश्वर को याद करता है वह कभी दुखी नहीं हो सकता। कवि का विचार है कि वह व्यक्ति जो दुनिया से चला गया वह कभी दुखी नहीं होता क्योंकि वह कब्र से उठकर रोने के लिए नहीं आता।

कब्र उसके लिए स्थाई घर है और वह वहाँ शान्ति से है। कबीर लोगों को ईश्वर की भक्ति एवं उनकी महानता की गुणगाथा करने का सुझाव देता है। उसका कहना है जो व्यक्तिा सोता है वह सबकुछ खोता है। उनका कहना है कि बिजली की कड़क ब्रह्मा की गद्दी को भी हिला देता है। दूसरे शब्दों में समय आने पर कोई भी सुरक्षित नहीं है। कबीरदास ईश्वर को अपनाने की सलाह देते हैं। जो ईश्वर को नहीं अपनाता बिना पिता का पुत्र है अर्थात् राम ही एक मात्र पिता हैं। कबीर का कहना है राम नाम एक खजाना है जितना लूटना हो व्यक्ति को इस खजाना को लूटना चाहिए क्योंकि एक दिन मृत्यु आएगी और मनुष्य सदा के लिए चला जाएगा।

कवि ने अपनी कविता में गुरु की महानता पर प्रकाश डाला है। गुरु और ईश्वर आस-पास खड़े हैं। कवि नहीं समझ पाता कि वह किसका चरण स्पर्श करे। लेकिन यह गुरु की प्रार्थना करता है क्योंकि ईश्वर ने उसे ऐसा करने को कहा।

कवि का कहना है कि अगर ईश्वर सहातया न करें और वह उदासीन हो जाएँ तो वह गुरु के शरण में जाएगा। लेकिन तब वह बहुत दुखी होगा, जब गुरु ही उदासीन हो जाएँ। ईश्वर आपकी सहायता नहीं कर सकता। इसका अर्थ यह है कि सभी को अपने गुरु का आदर करना चाहिए। तभी भगवान खुश होंगे।

Letter to Martha Poem Summary in English and Hindi by Dennis Brutus

Letter to Martha Poem Summary in English and Hindi Pdf. Letter to Martha Poem is written by Dennis Brutus.

Learncram.com has provided Letter to Martha Poem Objective Questions and Answers Pdf, Poem Ka Meaning in Hindi, Poem Analysis, Line by Line Explanation, Stanza Wise Summary, Themes, Figures of Speech, Critical Appreciation, Central Idea, Poetic Devices.

Letter to Martha Poem Summary in English and Hindi by Dennis Brutus

Letter to Martha by Dennis Brutus About the Poet

Dennis Brutus was born in 1924. He was a noted South African poet. He has written productive and melancholy poems.

Letter to Martha Written by Dennis Brutus Introduction to the Poem

The poem “Letter to Martha” has been written by Dennis Brutus. The poet wrote this poem while he was in prison. It recounts the poet’s experiences in the prison.

Letter to Martha Poem Summary in English

The poem “Letter to Martha” has been written by Dennis Brutus. The poet wrote this poem while he was in prison. It recounts the poet’s experiences in the prison.

The poet is full of sorrow and grief in the prison-house. The poet has described the importance of the clouds and the birds in his poem. While describing the importance of the clouds and the birds he indirectly describes the beauties of Nature that he sees outside his prison-house.

The poet sees the clouds and the birds in the sky. But he is very sorry that the walls of the prison-house are enemies and dreary. He can not see the complete sky due to the high walls of the prison house. At the same time the authorities of the prison-house are also hostile. They do not allow the poet to see the natural beauties of the clouds and the birds in the sky.

The poet is fond of the stars in the sky. But he is sorry to say that he can not see even the stars. He feels that the curves and some non-metalic elements in the prison-house, destroy the vision of flying birds who are like aeroplanes in the sky. The poet praises the activities of the flying birds and at the same time is very sorry to say that their natural freedom is destroyed. He says that the absolute freedom of the birds is very meaningful. The birds should enjoy complete freedom in the sky. But since the poet can not see the flying birds, he feels that the natural feeling of the birds is being destroyed.

The poet also describes the importance of the clouds in the sky. The motion of the clouds in the sky is unobstructed. The sounds of the clouds are like music. poetry and dance. The poet says that the graceful motion of the clouds reveals delicate rhymes. The poet is sorry to imagine where the clouds are going to disappear. He asks himself if the clouds will be seen by those who are at home. He again asks as to whom will they delight. The poet himself can not see the beauties of the clouds.

Letter to Martha Poem Summary in Hindi

‘Letter to Martha’ नामक कविता Dennis Beutus द्वारा लिखी गयी है। कवि ने इस कविता की रचना जेल में की है। कवि ने अपने जेल में अनुभव का भी लेखा-जोखा प्रस्तुत किया है।

कवि जेल में बहुत दुखी है। कवि ने अपनी कविता में आकाश में उड़ती चिड़ियाँ एवं घूमते हुए बादलों के महत्त्व का वर्णन किया है। बादलों एवं चिड़ियों के महत्त्व का वर्णन करते हुए कवि ने परोक्ष रूप में प्रकृति की सुन्दरता का वर्णन किया है।

कवि आकाश में बादलों एवं पक्षियों को देखता है। लेकिन कवि दु:खी है कि जेल की दीवारें उसकी दुश्मन हैं। जेल की ऊँची दीवारों के कारण कवि आकाश को नहीं देख पाता। जेल के अधिकारी भी कवि के दुश्मन हैं। वे कवि को आकाश में उड़ते हुए पक्षियों एचं चलते हुए बादलों की प्राकृतिक छटा देखने नहीं देते।

कवि आकाश में वर्तमान तारों को भी बहुत चाहता है। लेकिन उसको दुःख है कि वह आकाश के तारों को भी नहीं देख पाता। कवि का अनुमान है कि आकाश में पक्षी हवाई जहाज के समान उड़ते हैं, लेकिन वह जेल की दीवारों के कारण उन्हे देख नहीं पाता। कवि उड़ते हुए पक्षियों की प्रशंसा करता है, लेकिन साथ ही बहुत दु:खी है कि पक्षियों की आजादी धूर्ततापूर्ण तरीके से खत्म की जा रही है। कवि कहता है कि पक्षियो की स्वाभाविक स्वतंत्रता अर्थ रखती है।

कवि आकाश में उड़ते बादलों के महत्त्व का भी वर्णन करता है। कवि के अनुसार आकाश में बादल आवाध गति से चल रहे हैं। कवि कल्पना करता है कि बादलों की आवाज कविता, संगीत एवं नृत्य का दृश्य उपस्थित करती है। चलते हुए बादलों की आवाज सुरीली है। बादल जब आकाश से ओझल होते हैं तो कवि बहुत दु:खी होता है। कवि प्रश्न करता है कि क्या जो लोग अपने घरों में हैं वे बादल को देख सकते है। वह पूछता है कि बादल किसको खुशी प्रदान करेंगे। कवि स्वयं बादलों की सुन्दरता को देख नहीं सकता।

Lankapuri Story Summary in English and Hindi by Krishna Kumar

Lankapuri Story Summary in English and Hindi Pdf. Lankapuri Poem is written by Krishna Kumar.

Learncram.com has provided Lankapuri Objective Questions and Answers Pdf, Chapter Story Ka Meaning in Hindi.

Lankapuri Story Summary in English and Hindi by Krishna Kumar

Lankapuri Story by Krishna Kumar About the Author

Krishna Kumar was born in 1951. He was a professor of education at the University of Delhi. He is presently working as director, NCERT. He has published books and papers in English on education. He has written both for children and the teaches. Among his publications for children are “Neelee Ankhowala Bagule” and “Aaj Nahin Parhoonga”.

Lankapuri Story Written by Krishna Kumar Introduction to the Story

Introduction to the Story: The present short story “Lankapuri” has been translated from Hindi written by Arun Prabha Mukharjee.

Lankapuri Story Summary in English

The present story “Lankapuri” is a revealing study of adolescence – The sudden changes that the adolescence brings with it. In this short story, the narrator and Manno were childhood friends. They were both very friendly, but sometimes used to quarrel with each other on the simplest matter. They were neighbours. Manno lived opposite his house. Fathers of both the narrator and Manno taught in a school. They were also very good friends. But according to the narrator, the friendship between he and Manno was far stronger and deeper. Manno had no mother. She was one year elder than the narrator. He had a very special place for Manno in his heart.

The narrator praises Manno many times. Once Manno played a character role in a long red skirt that was signing in the stage light. The narrator was so charmed with her role that he could not meet manno for a week due to her stage personality. Her dance on the stage was unforgettable. His songs were charming.

The narrator says that Manno always managed to keep her school books and copies brand new. Every evening the narrator and Manno used to play “Nagin Tapu” on their rooftop. From the rooftop, a large portion of the town could be seen. There was a big lake at one end of the town. One day during their play, the narrator asked Manno as to what was there in the middle of the lake. Manno told him that that was “Lankapuri”. Manno said that only on Dussehra people burnt the effigy of Ravan and the rest of the year it lay vacant. The narrator did not believe it.

That night the narrator dreamed that there was a school in “Lankapuri” where only Manno and he got to study. Next morning when he and Manno were going to school. the narrator told Manno that they must go to Lankapuri one day. Manno did not agree to his proposal because it took a long walking.

It was true. The lake was very big and Lankapuri was at the other end of the lake.

At last Manno was persuaded that one morning they would get out early and go upto Lankapuri. They did not disclose that plan to any one at home because their parents could not allow them to go there, since it was quite a lonely place. The narrator practised to get-up early in the morning for a week because they had decided to reach Lankapuri before sunrise and after seeing Lankapuri, they would attend their school so that their parents could not doubt.

At last, one morning they started for Lankapur much before sunrise. They reached the end of the lake in right time. From there they had to leave the road and get into the fields. They crossed a jungle. Then they reached “Lankapuri”. There was sand all around. It was an isolated place. Lankapuri was like a very old House. It was totally deserted. There were only walls on all sides. On many walls some letters were written and naked picture of a girl was found there. Manno was sitting outside. He went there and saw that Manno was dozing. with her head on her knees. The narrator could not dare to speak. Suddenly he raised his head and looked towards the shore. He saw that some unknown people were taking bath in the lake and they were staring at Manno and him. The narrator was afraid of the people. He felt as though his head had a fissure and the tip of a knife was pointed straight at his eyes. It was out of fear that he and Manno had some social obligations to maintain. Both of them were of opposite sex.

Lankapuri Story Summary in Hindi

1. I did not always ………………………………… all the trouble.
अनुवाद : मुझे यह सदा याद न रहता था कि मन्नो मुझ से कुछ बड़ी थी। परन्तु अब मैं जानता हूँ कि उसे यह चेतना सदा रहती थी। वह छोटी-छोटी बातों पर मुझे सताती थी। साधारण सी मेरी इच्छा पूरी करने को राजी होने से पहले वह मुझसे उस का मूल्य चुकवाती थी। हम दोनों को.रेडियो पर फिल्मी गीत सुनने का शौक है। मुझे गीत के सही शब्द कभी याद न रहते थे जबकि मन्नो को पूरा गीत एक बार सुनने पर ही याद हो जाता था। कभी-कभी मैं गीत को ठीक ढंग से समझ भी न सकता था, ‘यूँ तो हमने लाख हसीं देखे हैं जो उस समय मेरा मनपसन्द गाना था, मेरे कानों से गलत सुनाई पड़ता था ‘यू’ तो हमने ढाक वहीं देखे हैं।’ जब मेरा मस्तिष्क इन शब्दों का अर्थ निकालने में थक जाता था तो मैं मन्नो के पास सही अर्थ पूछने के लिए जाता था। ऐसे अवसरों पर मन्नो पहले तो मुझे लज्जित करने के लिए जोर से हँसती थी, फिर वह हर गाने की प्रत्येक पंक्ति के लिए मुझसे सौदा करती थी। जो काम वह मुझसे कराती थी वह भले ही आसान होता था-जैसे उसके लिए पानी का गिलास लेकर आना, या उसकी पुस्तक पर कागज चढ़ाना, या पैसिल छीलना-परन्तु मुझे गाने को प्रत्येक पक्ति के लिए इस प्रकार काम करना भारी मूल्य प्रतीत होता था। फिर भी मैं यह सब कार्य चुपचाप कर देता था क्योंकि गाने का आकर्षण बहुत शक्तिशाली होता था। किसी गाने को सम्पूर्णतः जानना और सही जानना यह सब कष्ट झेलने कोई बड़ा मूल्य न था।

2. The promises were ……………………………… I remembered the oath.
अनुवाद : और वचन निभाने भी बिल्कुल आसान थे-कि मैं कभी उसके बाल न खीचूँगा, या उसकी शिकायत न करूगा, और इसी प्रकार की अन्य बातें। और जब मैं कसमें उठाता था तो मैं अपने मन में संकल्प भी करता था कि वैसा ही करूँगा जो मैं वचन दे रहा हूँ और वह काम कभी न करूंगा। यह बात नहीं है कि मैं सदा इसमें सफल हो जाता था। कई बार उसके बाल न खींचना असम्भव हो जाता था और वह भी मेरी कसमों की अस्थिरता के बारे में जानती थी और उनके तुरन्त उल्लंघन होने के लिए तैयार रहती थी। परन्तु, मैं कहूँगा कि मैं अपने वचनों को गम्भीरता से न लेने का अभ्यस्त हो गया था। यद्यपि कसमों के बारे में बात यह न थी। कभी-कभी मन्नो मुझे विद्या या ईश्वर की कसम दिला देती थी कि मैं उसे इस प्रकार तंग न करूंगा, और तब मैं एक-दो दिन के लिए वश में रहता था। अगले दिन तक न मुझे न मन्नो को कसम याद रहती थी।

3. Manno used to ……………………………………. to say of an injury.
अनुवादः मन्नो मेरे घर के सामने रहती थी और उसका पिता मेरे पिताजी की भांति स्कूल में पढ़ाता था। एक मात्र अन्तर यह था कि उसका पिता ऐनक लगाता था और धोती-कुर्ता पहनता था जबकि मेरे पिताजी पाजामा-कुर्ता पहनते थे और ऐनक न लगाते थे। वे अच्छे मित्र थे, परन्तु मेरा मत है कि मेरी और मन्नो की मित्रता अधिक पक्की व गहरी थी। मन्नो की माँ न थी। उसकी केवल एक बड़ी बहन थी जो कभी-कभी उनसे मिलने आती रहती थी। मैं अपने घर में अकेला था और मन्नो अपने घर में। परन्तु इस से कोई अन्तर न पड़ता था क्योंकि हम मुश्किल से ही अलग-अलग रहते थे। सिवाए परीक्षा के दिनों के हम मुश्किल से ही अलग होते थे। मन्नो मुझसे एक वर्ष आगे थी, और इसलिए उसे अधिक पढ़ना पड़ता था। देखने में भी वह मुझसे श्रेष्ठ थी। उसकी रंग बिरंगी फ्राक व रिबन से तुलना करने के लिए मेरे पास क्या था? मै अपनी ब्राउन या नीली या खाकी निक्कारों और पीले या सफेद या हरे कमीजों के साथ मन्नो का सुन्दर पोशाक में तुलना करने का क्या साहस कर सकता था। और फिर, मेरे कपड़े साफ भी कब होते थे? मेरे कमीजों के कालरों पर सदा मैल के बड़े-बड़े काले घेरे रहते थे और अगले भाग पर स्याही या चिकनाई के धब्बे दिखाई देते थे। मेरे बाल मेरे माथे पर बेतरतीब ढंग से लटके रहते थे जबकि मन्नो के चमकीले बाल साफ सुथरे ढंग से चोटियों में गुथे होते थे। मेरे घुटने सदा मक्खियों से सुसज्जित रहते थे या उन पर एक बड़ी पट्टी बंधी रहती थी। मेरे विचार में मन्नो के एक छोटी फुन्सी भी न होती थी, चोट का तो कहना ही क्या।

4. Whilte I did give ………………………………… Woman’s life is a story.
अनुवादः जबकि मैं मन्नो को खेल में एक दो मुक्का मार देता था या उसकी चोटियों को खींच देता था, मेरे मन में मन्नो के लिए विशेष स्थान था, अपने माता-पिता से भी ऊपर। एक बार जब मैंने मन्नो को उसके स्कूल में एक नाटक में देखा तो मुझे विश्वास न हुआ वह वही मन्नो थी जिसे मैं जानता था। उसने एक लम्बा लाल स्कर्ट पहन रखा था जो रंग मंच के तेज प्रकाश में झिलमिला रहा था। और उसकी गालें रूज (कुंकुमी) से लाल थीं। उस सायं के पश्चात् दो तीन दिनों तक मैं उसके समीप जाने का साहस न कर सका। मुझे अपने सब कपड़े फटीचर प्रतीत होते थे, और मेरी सब पुस्तकों व कापियाँ बेकार प्रतीत होती थीं। चार पाँच दिन पश्चात् जब मन्नो का रंगमंच वाला व्यक्तित्व कुछ धुंधला पड़ गया, तो मैंने उससे वह गीत लिखवाया जिस पर वह मंच पर नाची थी। गर्मियों के दिन थे और एक पंक्ति के पश्चात् उसने मुझे दौड़कर बाजार से अपने लिए बर्फ लाने के लिए भेजा। मैंने उस से पूरा गीत उसके पश्चात् ही प्राप्त किया। मुझे, उसकी पहली पंक्ति अब भी याद है-गुड़िया औरत एक कहानी।

5. Oh yes, I forget ……………………………… On almost every page.
अनुवादः हाँ, मैं यह कहना भूल गया कि मन्नो अपनी स्कूल की पुस्तकें व कापियाँ बिल्कुल नई जैसी रखती थी। और उसका लेख इतना सुन्दर था जैसे शब्द छपे हुए प्रतीत होते थे। इसके विपरीत, मेरी सभी पुस्तकों के कोने मुड़े रहते थे और मेरी कापियों के सभी पन्नों पर स्याही की छींटों के धब्बे पड़े रहते थे।

6. Every evening …………………………………. middle of the lake?”
अनुवादः प्रत्येक सायं हम नागिन टापू अपनी छत पर खेलते थे। वहाँ से हमारे नगर का बड़ा भाग दिखाई पड़ता था। हमारे नगर के एक सिरे पर बड़ी झील थी। एक दिन खेल के समय मैंने झील को देखकर उससे पूछा, “मन्नो, झील के मध्य में वह क्या है?”

7-17. ‘Lankapuri……….. …………..what do you think?’
अनुवादः ‘लंकापुरी’, उसने झील की ओर देखे बिना उत्तर दिया।
“वहाँ लोग क्या करते हैं?’ ‘कुछ नहीं’ ‘वहाँ कुछ नहीं होता?’ ‘कभी-कभी’
‘क्या?’ मैंने खेल के बीच रुक कर पूछा। अब मैं नागिन टापू से पूरी तरह बाहर हो गया था। मैं उड़कर लंकापुरी पहुंच चुका था।
‘वहाँ दशहरा पर रावण का पुतला जलाते हैं और फिर उसे वहीं डुबो देते हैं। “शेष वर्ष में क्या होता है?’ ‘कुछ’ नहीं।’ ‘क्या वह सदा खाली पड़ी रहती है?’ ‘तुम क्या सोचते हो?’

18-20. I was not satisfied……………..I got to study.
अनुवादः मैं इस उत्तर से संतुष्ट न था। मुझे यह बात बड़ी विचित्र लगती थी कि लंकापुरी जैसी जगह खाली पड़ी रहे। कम से कम वे वहाँ रावण का कुछ सामान तो छोड़ सकते हैं। मन्नो ने यह कह कर चकती मेरे हाथ से ले ली, ‘चौथे घर में चकती फैंकने से तुम्हारी बारी चली गई।’ जहाँ तक मेरी बात थी, नागिन टापू डूब गया था, केवल लंकापुरी शेष थी।
उस रात मैंने सपना देखा कि लंकापुरी में एक स्कूल है जिसमें केवल मन्नो और मैं पढ़ते हैं।

21. Next morning………………………………………Seeastretch of sand.
अनुवादः अगले दिन प्रातः जब हम स्कूल जा रहे थे, तो मैंने मन्नो से कहा कि हमें एक दिन लंकापुरी अवश्य जाना चाहिए। पहली बार उसने पूर्णतः मना कर दिया यह बहाना बना कर उसमें चलना बहुत पड़ेगा और यह बात बिल्कुल सच थी। लंकापूरी पहुँचने के लिए झील का चक्कर लगाना पड़ता था और वह कोई साधारण झील न थी। वह हमारे नगर के दो महत्त्वपूर्ण स्थानों को छूती थी। शिवजी का मन्दिर व पशुओं का अस्पताल। नगर के सारे घर भी इतना स्थान न घेर सकते थे जितना झील ने घेर रखा था। लंकापुरी झील के दूसरे किनारे पर था। परन्तु दूर से देखने पर बिल्कुल मध्य में प्रतीत होता था। उसके दोनों ओर कुछ खजूर के पेड़ थे, और सामने की ओर रेतीली भूमि थी।

22. At last, Manno was ……………………………………….about it at all.
अनुवादः अन्त में मन्नो इस बात के लिए मान गई कि हम एक दिन प्रातः निकल पड़ेंगे और लंकापुरी तक जाएंगे। हमने घर पर किसी को यह योजना प्रकट न की। निःसन्देह समस्याएँ खड़ी होती यदि हम उन्हें बता देते। सम्भवत: वे हमें वहाँ जाने से मना कर देते। सर्वप्रथम तो लंकापुरी बहुत दूर थी। दूसरे, वह अलग-थलग थी। उस सप्ताह मैंने अपने घर की छत से लंकापुरी को कई बार देखा। मुझे वहाँ कोई दिखाई न पड़ा। मन्नो वह मुझे वहाँ जाने की आज्ञा कैसे दी जाती जहाँ कोई न जाता था? इसलिए सबसे अच्छी बात यही थी कि इसके बारे में किसी से बात . की जाए।

23. I started practising ……………………………….. bells of the temple.
अनुवादः मैंने प्रातः जल्दी उठने का अभ्यास करना शुरू कर दिया, परन्तु पहले कुछ दिन यह सफल न हुआ। जब हम झील के किनारे तक पहुंचेंगे, सूर्य ऊपर चढ़ आएगा और हमें स्कूल समय पर जाने के लिए जल्दी चलना पड़ेगा फिर अगली प्रात: ज्यों ही मैं बिस्तर से उठा मेरी नाड़ी तेज चलने लगी। परन्तु मुझे यह देख कर बड़ी निराशा हुई कि चलने के लिए पहले ही देर हो चुकी थी। किनारे पर चलते समय मैं अपनी आँखें लंकापुरी पर जमा कर रखता था। झील मेरे अन्दर आ जाती और लंकापुरी मेरे सामने होती। मुझे गोताखोरों को छपछपाने की ध्वनि और मन्दिर की घंटियाँ भी सुनाई न पड़ती थी।

24. Atlast, one morning………………….as light chill.
अनुवादः अंत में एक दिन प्रातः हमने देखा कि हमारे पास लंकापुरी जाने का समय है। हम सूर्योदय से बहुत पहले सड़क पर पहुँच गए। पूर्व में झील के पार बहुत मध्यम उजाला था और स्पष्ट रूप से कुछ भी देखना कठिन था। हमारे सिरों के ऊपर तारे थे-ऐसे तारे जो झाँकते हैं, न कि ऐसे जो कि रात के आकाश में टांके हुए रहते हैं। हल्की सी पवन चल रही थी जिसमें हल्की सी ठंडक थी।

25. We made the end ………………………….children on swings.
अनुवादः हम झील के छोर पर अति शीघ्र पहुँच गए। वहाँ से आगे हमें सड़क छोड़ कर खेतों में से जाना पड़ा। मेरे पाँव हवा में थे और खेत गीले साबुन की भाँति फिसलने थे। मन्नो आगे आगे बच-बच कर चल रही थी। मैं पक्षी की भाँति फुदक रहा था, मेरे पाँव मुश्किल से धरती को छूते थे। ज्यों ही हम सड़क से हटे थे मुझे लगा था कि मैं विचित्र स्थान पर आ गया हूँ। मैंने रेलगाड़ी में केवल एक बार यात्रा की थी। नहीं तो मैं नगर से बाहर कभी न गया था। जंगल मेरे लिए सपनो की धरती थी। जहाँ खरगोश कोमल घास पर घूमते हैं और पक्षी घने ऊँचे पेड़ों में चहचहाते हैं, गाँव मेरी तीसरी कक्षा की पुस्तक में चित्र के समान था: महिलाएँ कुएँ से पानी खींच रही हैं, उपवन हैं, लोग पेड़ों के नीचे बैठे हैं, छोटी-छोटी कुटियाँ हैं, और बच्चे झूल रहे हैं।

26-32. There. That is………………………………….No, I’m very tired.’
अनुवाद : वह रही लंकापुरी। जब हम लंकापुरी पहुँचे तो पूर्व लान दहक रहा था। सब ओर रेत था और उजाड़ था। किनारों पर की आवाजें बहुत दूर प्रतीत हो रही थीं।
लंकापुरी एक पुराने घर की भाँति था। दीवारों से सीलन थी और पौधे कोनों में से बाहर आ रहे थे।
‘हम पहुँच गए हैं’, मन्नो ने पहले सोपान पर पांव रख कर कहा। ‘पहले हम अन्दर चलें’ मैं बोला और अन्दर जाने लगा।
‘पहले थोड़ा सुस्ता लें।’ .. ‘नहीं, मैं पहले अन्दर जाना चाहता हूँ।’
‘नहीं, मैं बहुत थकी हुइ हूँ।’

33. And Manno sat ………………………………….. entered Lankapuri.
अनुवादः और मन्नो सोपान पर बैठ गई। मुझे उसका इस प्रकार बैठना बिल्कुल अच्छा न लगा। मैंने क्रोध भरी आवाजा में कहा, “तुम चाहो तो सारा दिन बैठी रहो।”
मैं एक साथ दो-दो पौड़ियाँ छलांग लगाकर चढ़ता हुआ लंकापुरी के अन्दर गया।

34. I saw that……………………………………………. she had nothing on.
अनुवादः मैंने देखा कि लंकापुरी पूर्णतः सुनसान थी। वहाँ चारों ओर दीवारों के अतिरिक्त कुछ न था। अचानक मैंने प्रातः के प्रकाश में देखा कि दीवारों पर कुछ घसीटकर लिखा हुआ है। मैंने सामने की दीवार पर जाकर उसे पढ़ने का प्रयास किया बड़े-बड़े अक्षरों में ‘सुशीला’ नाम निक्षारित था और उससे आगे ऐसे शब्द थे जो मैंने स्कूल की दीवार के पीछे, झील के सड़क पर और अनेक स्थानों पर देखे थे। शब्दों के समीप एक लड़की का चित्र था और उसने कुछ न पहन रखा था।

35. My glance penetrated ……………………….. glared in my eyes.
अनुवादः मेरी दृष्टि अंधरे में घुसी। मैंने देखा अन्य सब दीवारों पर वही शब्द लिखे थे। जब मैं उनको देखता चला तो मेरे पांव ठंडे होने लगे। मेरे हाथ जेबों में चले गए और मुझे उस स्थान का कोई बोध न रहा। फिर भी मैं आगे बढ़ता गया और खिड़की तक पहुँचा व और धूप से मेरी आँखें चुधियाँ गई।

36. I recalled that Manno was …….. ……………at the waves.
अनुवादः मुझे याद आया कि मन्नो बाहर बैठी है। मैं दबे पांव सोपान पर पहुँचा और देखा कि मन्नो अपना सिर घुटनों पर रखकर ऊंघ रही है। आदत के अनुसार मेरा हाथ मन्नो की चोटी की ओर बढ़ा, परन्तु रुक गया । मैंने उसे जेब में रख लिया और लहरों को देखने लगा। कुछ देर के पश्चात् मेरा मन उसकी कमर पर मारने को किया। परन्तु इस बार मेरा हाथ जेब से बाहर ही न आया। मैं फिर से लहरों को देखने लगा।

37. Suddenly I raised …………………………………….. Manno and me.
अनुवादः अचानक मैंने सिर उठा कर किनारे की ओर देखा। समस्त झील पर प्रकाश था और किनारे पर हलचल थी। जब मैंने सोचा कि किनारे पर नहाते हुए लोग मेरे और मन्नो की ओर देख रहे होंगे, तो मुझे लगा कि मेरा सिर फट गया है और छरे की नोक सीधी मेरी आँखों की ओर है।

Unemployed Hope Summary in English and Hindi by Umeshwar Prasad

Unemployed Hope Summary in English and Hindi Pdf. Unemployed Hope Poem is written by Umeshwar Prasad.

Learncram.com has provided Unemployed Hope Objective Questions and Answers Pdf, Chapter Story Ka Meaning in Hindi.

Unemployed Hope Summary in English and Hindi by Umeshwar Prasad

Unemployed Hope Written by Umeshwar Prasad Introduction to the Chapter

In this poem Dr Umeshwar Prasad (1933-1998) has described the misery of the unemployed educated youth and the futile hope of their parents.

Unemployed Hope Summary in English

The speaker in the poem is a post-graduate young man. He has been applying for a job and hoping to get it. He promises to buy a Maharaja dhoti and a silken shirt for his father out of his first pay.

His old father’s eyes are filled with tears of gratitude and his lips move in prayer. But the young man does not get a job, and cannot fulfil his promise. His father dies. His mother remembers how father was full of pride when he wore a Maharaja dhoti and a silken shirt at the time of his wedding. But now in a just struggle to survive, the young man has forgotten about the Maharaja dhoti and sliken kurta.

Unemployed Hope Summary in Hindi

इस कविता में वक्ता एक स्नातकोत्तर युवक है। वह नौकरी के लिए प्रार्थना पत्र भेजता रहता है और आशा करता है कि उसे नौकरी मिल जाएगी। वह अपने पिता के लिए प्रथम वेतन में से एक महाराजा धोती व रेशमी कुर्ता खरीदने का वचन देता है।

उसके बूढ़े पिता की आँखों में ध न्यवाद के आंसू आते हैं और उसके होंठ प्रार्थना में हिलते हैं। परन्तु युवक को नौकरी नहीं मिलती, और वह वचन पूरा नहीं कर सकता। उसका पिता मर जाता है। उसकी माँ उसे बताती है कि उसके पिता ने जब विवाह में महाराजा धोती और रेशमी कुर्ता पहना था, तो उसे कितना गर्व हुआ था। परन्तु अब तो युवक जीवित रहने के संघर्ष में महाराजा धोती व रेशमी कुर्ते के बारे में भूल गया है।

Stonemasons, My Father, and Me Summary in English and Hindi by Namdeo Dhasal

Stonemasons, My Father, and Me Summary in English and Hindi Pdf. Stonemasons, My Father, and Me Poem is written by Namdeo Dhasal.

Learncram.com has provided Stonemasons, My Father, and Me Objective Questions and Answers Pdf, Chapter Story Ka Meaning in Hindi.

Stonemasons, My Father, and Me Summary in English and Hindi by Namdeo Dhasal

Stonemasons, My Father, and Me by Namdeo Dhasal About Author

Namdeo Dhasal (B. 1949) is a well-known Marathi poet. He was born in a slum and has known the poverty, misery and sufferings of the poor and the downtrodden. He is a revolutionary, and has fought for the rights of those people.

Stonemasons, My Father, and Me Written by Namdeo Dhasal Introduction to the Chapter

In this poem the poet depicts the art and work of stone-masons. They work hard and create beauties in stones. But they die in misery. They are oppressed.

Stonemasons, My Father, and Me Summary in English

Summary In English Stone-masons carve stones into beautiful shapes. They create beauties out of them. They shape them as if they were alive. All their lives they work but die in starvation. They give their life-blood to stones, but get suffering in tum.

The poet’s father was a stone-mason. Though people advised him not to choose his father’s occupation, he stood by his father. He soothed and comforted him after his day’s work. He glorifies the work of stone-masons. His father met the fate of every stone-mason. He died in harness.

Countless masons worked and died like him. The memories of his father are bitter and harsh. The poet is filled with revolt. Stone-masons build stone houses with stones. But the poet breaks heads with stones.

Stonemasons, My Father, and Me Summary in Hindi

पत्थर के कारीगर पत्थरों को काट कर सुन्दर रूप देते हैं। वे उनमें सुन्दरता पैदा करते हैं। वे उन्हें ऐसा रूप देते हैं जैसे कि वे जीवित हों। वे जीवन भर कार्य करते हैं परन्तु भूखे मरते हैं। वे पत्थरों को अपना जीवन रक्त देते हैं परन्तु बदले में उन्हें पीड़ा मिलती है।

कवि का पिता पत्थर का कारीगर था। लोगों ने उसे राय दी कि वह अपने पिता का धंधां न चुने। परन्तु उसने अपने पिता का साथ दिया। वह दिन का कार्य समाप्त होने पर अपने पिता को आराम पहुँचाता था। वह पत्थर के कारीगरों के कार्य का गौरव गान करता था।

उसके पिता की किस्मत में भी प्रत्येक कारीगर का अंत था। वह काम करता मर गया। अनगिनत कारीगर ऐसे ही मर गए थे। अपने पिता की स्मृति उसके लिए कटु व कठोर है। कवि में विद्रोह जागृत हो जाता है। पत्थर के कारीगर पत्थर के घर बनाते हैं। परन्तु कवि पत्थरों से सिर फोड़ता है।

South Delhi Murder Poem Summary in English and Hindi by Tabish Khair

South Delhi Murder Poem Summary in English and Hindi Pdf. South Delhi Murder Poem is written by Tabish Khair.

Learncram.com has provided South Delhi Murder Poem Objective Questions and Answers Pdf, Poem Ka Meaning in Hindi, Poem Analysis, Line by Line Explanation, Stanza Wise Summary, Themes, Figures of Speech, Critical Appreciation, Central Idea, Poetic Devices.

South Delhi Murder Poem Summary in English and Hindi by Tabish Khair

South Delhi Murder Written by Tabish Khair Introduction to the Poem

Tabish Khair studied up to M.A. in Gaya. He is pained to see that Bihar and Biharis no longer enjoy a good reputation in many parts of the country, Biharis are honest and hard-working people. But many poor Biharis work as domestic help. In some cases, it was found that Bihari servants killed their employers and made away with their valuables. The act of a few of them brought a bad name to Bihar and Biharis. Whenever an incident of murder or robbery is committed, the finger of suspicion is pointed at the Bihari servant without any proof or investigation. This prejudice prevails in the Delhi people and police alike.
‘South Delhi Murder’ highlights this attitude of the police and the people.

South Delhi Murder Poem Summary in English

An old couple lived alone in a flat. Their sons were in America. They did their duty to their parents just by sending them valuable presents.

One day a neighbour saw a red fluid spilled from behind the closed door of the old couple. For three days, she believed that the red fluid was red ink or nail polish. But then she noticed that the fluid had dried but the flies buzzed over it. Then she realised it was blood. She rang up the police.

She told her neighbour Mrs Guha about the old couple’s servant Shyam. He was a Bihari. He looked innocent. She found it hard to believe that such an innocent boy could have murdered the old couple. But appearances could be deceptive.

A police officer came with two constables. They broke open the door and went in. The old man had been stabbed and the old woman had been killed with iron rods.

It was a neat job as if the operation was done by professionals. The way the couple had been killed, the police officer could immediately tell that it was the job of a Nepali boy or a Bihari chhokra. It was presumed that in the dead of night when the streets of Delhi are deserted and quiet, Shyam’s accomplices would have come. Shyam would have unlocked the door for them. Then they killed the couple and made away with the valuables. Almost every valuable thing was missing. But they had left the laptop behind. Probably the illiterate Biharis did not know anything about computers. They did not know that laptop was also valuable.

Nabbing Shyam was not difficult at all. His address had been noted. He belonged to a small village in Bihar. The police also got his photo from a film in which he was seen carrying a tray at a party.

When the police caught Shyam, he had only fifty rupees and a sari which he had bought for his mother.

South Delhi Murder Poem Summary in Hindi

एक वृद्ध दम्पति एक फ्लैट में अकेले रहते थे। उनके बेटे अमेरिका में थे। वे अपना कर्तव्य केवल मूल्यवान उपहार भेजकर पूरा कर देते थे।

एक दिन एक पड़ोसन ने देखा कि लाल तरल द्रव्य बंद दरवाजे के पीछे से बह कर आया था। तीन दिन तक वह मानती रही कि वह लाल स्याही या नाखून पॉलिश थी। फिर उसे ध्यान दिया कि वह तरल द्रव्य सूख गया था और मक्खियाँ उस पर भिनभिना रही थीं । तब उसे आभास हुआ कि वह खून था। उसने पुलिस को टेलीफोन किया।

उसने अपनी पड़ोसन मिसेज गुहा को वृद्ध दम्पति के नौकर श्याम के बारे में बताया। वह बिहारी था। वह भोला-भाला प्रतीत होता था । उसे विश्वास न हो रहा था कि ऐसा भोला लड़का वृद्ध दम्पति की हत्या कर सकता था। परन्तु सूरत से धोखा लग सकता है।

एक पुलिस अधिकारी दो सिपाहियों के साथ आया। वे द्वार तोड़कर अन्दर गए। वृद्ध आदमी की हत्या छुरा घोंप कर की गई थी । वृद्धा की हत्या लोहे की सलाखों से की गई थी।
यह काम बड़ी सफाई में किया गया था जैसे किसी पेशेवर का काम हो।

जिस प्रकार हत्या की गई थी, पुलिस अधिकारी ने तुरन्त बता दिया कि यह किसी नेपाली या बिहारी छोकरे का काम है।

माना यह गया कि सुनसान रात में जब दिल्ली की सड़कें खाली व शांत होती हैं, श्याम के साथी आए होंगे। श्याम ने उनके लिए दरवाजा खोल दिया होगा। फिर उन्होंने दम्पति की हत्या कर के मूल्यवान वस्तुएँ लेकर चम्पत हो गए थे। लगभग सभी मूल्यवान वस्तुएँ नदारद थीं। परन्तु वे लैपटॉप छोड़ गए थे। संभवतः अनपढ़ बिहारियों को कम्प्यूटरों के बारे में कुछ पता न था। उन्हें पता न था कि लैपटॉप भी मूल्यवान होता है।

श्याम को पकड़ना कठिन न था । उसका पता लिखा हुआ था । वह बिहार के एक छोटे-से गाँव का रहने वाला था। पुलिस को एक फिल्म से उसका फोटो भी मिल गया था जिसमें वह एक पार्टी में ट्रे लिए हुए था।

जब पुलिस ने श्याम को पकड़ा, उसके पास केवल पचास रुपए तथा एक साड़ी थी जो उसने अपनी माँ के लिए खरीदी थी।

South Delhi Murder Poem Hindi Translation

First Stanza:
For three days she took it for spilled red ink. Or nail-polish. Then a scab of flies Peeled to hint at the wounds shut Behind that door. Her head buzzed As she called the police

Word Meaning: Spilled = छितराया था। Nail polish = नाखून पॉलिश ! Scab = घाव के ऊपर पड़ी हुई पापड़ी । Flies = मक्खी । Peeled = सतह पर की चमड़ी का उखाड़ना । Head = सिर । Buzzed = भनभनाहट । Police = पुलिस ।

भावार्थ-यह एक वर्णात्मक कविता है जो अंग्रेजी के उल्लेखनीय भारतीय कवि, ताबिश खैर के द्वारा लिखा गया है। इन पंक्तियों में कवि साउथ दिल्ली के फ्लैट में रहने वाले उड़े दम्पति की हत्या के बारे में कहता है। उस फ्लैट में रहने वाली एक बृटी असर के पता चला कि वहाँ हत्या हुआ है। यह एक बूढ़ी औरत है। उसने सबसे पहले गलती . जून के निशान को लाल स्याही या नेल पॉलिश का धब्बा समझा। बाद में मक्खियों के झुप’ दर फ्लैट के दरवाजे के पीछे खून के निशान का आभास हुआ ।

Meaning of the stanza: This is a narrative poem written by Tabish Khair a remarkable Indian poet in English. In these lines the poet says about a murder of old couple living in South Delhi flat. A resident of that fiat discovered that a murder had taken place there. This resident was an old woman. She at first mistook the marks of blood for spilled red ink or nailpolish. A swarm of flies suggested the marks of some bloody wounds closed up behind the door of the flat.

Second Stanza:
Such a sweet boy, She later gasped to Mrs Guha, a little dense But smiling and so-sweet, to think he bottle up
In himself the range of 26 stabs, twen-tee-six, You never can tell with these people, no, not ever.

Word Meaning: Sweet = प्यारा, प्रिय | Later = बाद में | Gasped = जल्दी-जल्दी साँस लेना। Dense = बदमाश I, Smiling = मुस्कुराता हुआ | So-sweet = इतना प्रिय । Bottle up = नियंत्रण में रखना । Range = दायरा | Stabs = घाव । Tell = बताना । Ever – हमेशा।

भावार्थ-बूढ़े कत्ल किये गये दम्पत्ति का एक नौकर लड़का है। आधी रन में नौकर के द्वारा फ्लैट का दरवाजा खोला गया । एक बृढी औरत जा बगल के फ्लैट में रहती थी, वह सम्झ गई कि कुछ गलत हुआ है। उसने उस फ्लैट की एक दूसरी औरत मिसेस गुहा का बताया। वह बेतहाशा अंदाज में बोली 26 चाकू के जख्मों को सहन करने मकतूल के लिए सचमुच में कठि काम था । ऐसे लोगों के प्रति इस भयानके अपराध की कल्पना भी नहीं की जा सकती है। यह अपराध दम्पत्ति के नौकर के द्वारा किया गया जिसने बूढ़े दम्पत्ति की हत्या डाकुओं द्वारा उन ही फ्लैट में करा दी गयी।

Meaning of the stanza: The old murdered couple has a serving boy. TI door of the flat was opened by the boy servant at the dead of nighi. Then ti old lady sensed something wrong who was a dweller in adjacent flat. She tol Mrs. Guha, another lady of the flat breathlessly that it was indeed a hard tas for the slain to endure them pain of twenty six stab wounds. These people cd never be imagined for such a heinous crime which was committed by Shyam the boy servant of the old couple with the help of some other criminals.

Third Stanza:
To which Mrs Guha sadly shook her gold earrings. The officer who turned up with two policemen Also shook his head when told of the old couple Who had lived in that flat with one serving boy And presents from guilt-stricken sons in the US. Having broken the door and located the crime, He came out holding a large hanky to his nose, Spat and asked, Nepali boy, no? Bihari Chokkra ?

Word Meaning: Sadly = उदास । Shook = हिलाया । Gold earrings = सोने का कर्णफूल | Turmed = आया । Old couple = वृद्ध दम्पति । Flat = घर । Serving boy = नौकर | Guilt-stricken = दोषी मानते हुए । Broken = टूटा हुआ । Located = दर्शाना । Crime = अपराध । Holding = पकड़े हुए। Hanky = रूमाल ! Spat = थूका।

भावार्थ-यह सुनकर श्रीमती गुहा, एक अन्य पड़ोसिन भी आश्चर्य से भर गई। इसी बीच एक पुलिस अफसर तथा दो पुलिसकर्मी वहाँ पहुँचे । हत्या के साक्ष्य की जाँच कर, अपनी नाक पर रूमाल रखते हुए पुलिस अफसर कमरे से बाहर आया। पुलिस अफसर न जानकारी चाहा कि नौकरी करने वाला लड़का नेपाली या बिहारी छोकरा था।

Meaning of the stanza: Mrs. Guha, another neighbour shook her least sadly, shaking her gold ear-rings. A police officer turned up with two police men. Having located the crime of the bloody murder, the police officer came out of the room, holding up a large handkerchief to his nose. He spat and asked whether the serving boy was a Nepali or a Bihari Chokkra.

Fourth Stanza:
Some clues are so abovious they don’t have to be pinned: The incision of murder is always the outsider’s choice. Someone on the edge of life, driven by ghostly scalpels. Sometime in the morphia of night when the roads of Delhi Were white swatches of loneliness and smog, sometime Three or more nights ago when the occasional truck’s Back lights faded to wavering bandages of yellow

Word Meaning: Clues = सुराग | Obvious = स्पष्ट | Pinned = साथ में जोड़ना । Incision = घाव | Murder= हत्या | Always = हमेशा | Outsider’s choice = बाहरी लोगों का चुनाव | Edge of life = बुढ़ापा । Driven by = ले जाया गया। Ghostly = डरावना । Scalpels = छोटा हल्का चाकू जिसे सर्जरी में इस्तेमाल किया जाता है। Sometime =  कभी-कभार | Morphia= दर्द निवारक दवा | Swatches = छोटे कपड़े के टुकड़े जिसे जोड़कर बड़ा बनाया जाता है | Loneliness = एकांत । Smog= कुहासा I Occasional = कभी-कभी । Faded = फिका पड़ना । Wavering = झूलते हुए। Bandages = पट्टियाँ ।

भावार्थ-पुलिस के अनुसार दम्पत्ति की हत्या के सूत्र बिल्कुल स्पष्ट थे। चाकू मार कर हत्या करना हमेशा बाहरी लोगों की पसंद होती है। दम्पत्ति की हत्या निश्चित रूप से बाहरी लोगों का काम ।। हत्यारे ने डॅक्टर द्वारा प्रयोग किये जाने वाले छोटा तेज चाकू निकाला । यह आधी रात का समय था। रात में बिल्कुल खामोशी और कोहरा था । तीन बजे रात या उससे पहले अथवा बाद कभी-कभी आने वाले ट्रक के पीछे की रोशनी धुंधली दिखाई देती और पीले रंगों में लड़खड़ाती नजर आती।

Meaning of the stanza: Some clues about the murder of the couple were quite obvious. The incision of murder is always the outsider’s choice. The murder of the couple was certainly the work of an outsider. The murderer took out small sharp knife used by doctors. It was midnight. There was quite loneliness and smog in the night. Three or more nights age, back lights of the occasional trucks seemed fade and they seemed to be wavering bandages of yellow colours.

Fifth Stanza
Sometime in a gauzed silence broken by yapping Street dogs so-sweet Shyam had crept to the locked Front door and let his accomplices in Steel rods Had been used, and knives; the old man clubbed in bed. His wife surgically stabbed later.

Word Meaning: Gauzed Silence = गहरी शाति । Yapping = तेज मूंकना । Street-dog = गली का कुत्ता । Crept = सरक गया । Locked = बन्द । Front door = आगे का दरवाजा | Accomplices = अपराधी का सहभागी । Steel rods = लोहे का छड़ । knives = चाकू। Clubbed in bed = साथ में बिछावन पर सोये थे । Surgically stabbed = डॉक्टरी ढंग से छुरा भोंका गया।

भावार्थ-कभी-कभी रात की खामोशी भौंकने वाले गली के कुत्तों के द्वारा भंग हो जाया करती है । श्याम, एक लड़का नौकर ने चुपके से फ्लैट के दरवाजा को डाकूओं के प्रवेश के लि. आधी रात में खोल दिया। वे लोग उसके फ्लैट के सामानों को लूटने आये । श्याम ने डाकुओं के साथ साजिश रचा । डाकू लोग चाकू और छड़ के साथ फ्लैट में प्रवेश कर गये । उनलोगों ने बूढ़े दम्पत्ति की बुरी तरह हत्या कर दिया । बूढ़े आदमी को पीट-पीट कर मार डाला गया और उसकी पत्नी को बाद में छूरा मारकर हत्या कर दिया।

Meaning of the stanza: Sometime the silence of the night was broken by yapping street dogs. Shyam, a boy servant quietly opened the door of the flat to admit the robbers. They came here in order to loot the flat’s belongings. Shyam made a conspiracy with the robbers. The robbers entered the flat with knives and rods. They brutally killed the old couple. The old man was beaten to death with a club. His wife was stabbed to death later.

Sixth Stanza:
A Cousin was asked By the officer to make an inventory of missing items. Which was long two TV sets, radio, banarasi saris All the inherited silver, jewellery, cash in fact everything Of value except the laptop, which had been left behind In panic or ignorance of its value.

Word Meaning: Cousin = चचेरा भाई । Inventory= तालिका बनाना । Missin’ = खोया हुआ। Inherited silver = परम्परागत रूप से प्राप्त हुई चाँदी। Jewellery = रहने । Everything = सबकुछ । Except = अलावा । Laptop = छोटा कम्प्यूटर । Panic = आतंक । Ignorance = अज्ञात | Value = महत्त्व।।

भावार्थ-पुलिस अफसर ने इस दम्पत्ति के एक रिश्तेदार को चोरी गये सामानों की एक सूची तैयार करने को कहा । चोरों ने एक लैपटॉप कम्प्यूटर को छोड़कर दो टी०वी० सेट रेडियो, कीमती बनारसी साड़ियाँ, कीमती जेवरात और नकद राशि इत्यादि चुराया था। इस लैपटॉप अथवा कम्प्यूटर को या तो भय से उन्होंने छोड़ दिया या कीमत में कमी के कारण छोड़ दिया।

Meaning of the stanza: When the police officer asked a cousin of the couple to prepare a list of missing things with place, he did so. Two T.V. sets, Radic. Valuable Banarasi Sari, Valuable Jewellery and cash in fact every thing was looted except the laptop or computer. This laptop or computer was left behind either in panic or least in value.

Seventh Stanza:
Scoffed the officer, what do they know of computers. Ora rhabets for that matter. It turned out that this time The hokkra in question had been filmed, holding Loaded trays in parties, and his address noted. Justice was clinical, sweet Shyam nabbed in his village with fifty rupees on him and a sari for his mother.

Word Meaning: Scoffed = गुर्राया Alphabets = वर्णाक्षर | Filmed = फिलमाना । Loaded = परिपूर्ण | Parties = जलसे । Address = पता | Justice was Clinical = चिकित्सा संबंधी न्याय | Nabbed = गलत काम में पकड़ा गया ।

भावार्थ-इस पर पुलिस अफसर ने मजाक से कहा कि बिहारी छोकरे को कम्प्यूटर से लेना-देना नहीं था। उस संदेहशील लड़के को पार्टियों में ट्रे ढोते हुए देखा गया था। अतएव उसका पता नोट कर लिया गया। इस तरह पुलिस के लिए उस बिहारी छोकरे, श्याम को उसके गाँव में ढूँढ लेना आसान था। श्याम को गाँव में गिरफ्तार कर लिया गया। उसके पात्र मात्र पचास रुपये और माँ के लिए एक साड़ी थी।

Meaning of the stanza: Upon this the police officer joked that Bihari Chokkras did not hear of laptop. They did not have anything to do with computers and the like. The Chokkra in question had been filmed as an errand by carrying loaded trays in parties and his address had been noted. Thus it was easy for the police to trace out Shyam, the Bihari Chokkra in his native village. The poet says in the concluding stanza that justice was clinical. Shyam with fifty rupees on him nabbed in the village and a sari for his mother.

Voice of The Unwanted Girl Summary in English and Hindi by Sujata Bhatt

Voice of The Unwanted Girl Poem Summary in English and Hindi Pdf. Voice of The Unwanted Girl Poem is written by Sujata Bhatt.

Learncram.com has provided Voice of The Unwanted Girl Poem Objective Questions and Answers Pdf, Poem Ka Meaning in Hindi, Poem Analysis, Line by Line Explanation, Stanza Wise Summary, Themes, Figures of Speech, Critical Appreciation, Central Idea, Poetic Devices.

Voice of The Unwanted Girl Poem Summary in English and Hindi by Sujata Bhatt

Voice of The Unwanted Girl Written by Sujata Bhatt Introduction to the Poem

Sujata Bhatt is one of the finest living poets. In this poem, she has voiced her concern about the gender-bias. In our society girls are treated as inferior to boys. The birth of a girl is considered a misfortune. The technique that helps to determine the sex of the unborn child is used against the girl child. If the expected baby is a girl, it is destroyed. That is why, the difference between the numbers of boys and girls is widening day-by-day.

Voice of The Unwanted Girl Poem Summary in English

The speaker in the poem is an unwanted girl who was destroyed before she was born. She is speaking to her mother.

The girl tells her mother how she destroyed her. The doctors told her that the baby would be a girl. She put on her green sari and went to hospital to have the child destroyed because the girl was unwanted. The mother already had one daughter.

The doctors gave an injection to kill the girl. The mother did not even care to look at the girl.

After the girl was destroyed everyone was happy.

The murdered girl child asks her to look for her in vain because she was lost forever. She will not grow up into a beautiful girl to be admired by someone. She tells her mother that she has acted against the will of God. God wanted her to live and grow up naturally.

Voice of The Unwanted Girl Poem Summary in Hindi

कविता में वक्ता एक अनचाही लड़की है जिसे पैदा होने से पहले ही नष्ट कर दिया गया। वह अपनी माँ से संबोधित है।

लड़की अपनी माँ से कह रही है कि उसने उसे कैसे मारा । डॉक्टरों ने उसे बता दिया था कि शिशु लड़की होगी । वह अपनी हरी साड़ी पहन कर बच्ची को नष्ट कराने के लिए अस्पताल गई क्योंकि लड़की अनचाही थी। माँ के पास पहले ही एक बेटी थी।

डॉक्टरों ने बच्ची को मारने के लिए एक इंजेक्शन दिया। माँ ने लड़की को देखना तक न चाहा।

लड़की के नष्ट हो जाने के पश्चात् सभी प्रसन्न थे।

वध की हुई लड़की अपनी माँ से कहती है कि वह उसे खोजे क्योंकि वह सदा के लिए जा चुकी थी। वह कभी बड़ी होकर सुन्दर लड़की न बनेगी जिसकी कोई प्रशंसा करता । वह अपनी माँ से कहती है कि उसने ईश्वर की इच्छा के विरुद्ध कार्य किया है। ईश्वर चाहता था कि वह प्राकृतिक ढंग से बड़ी होती।

Voice of The Unwanted Girl Poem Hindi Translation

First Stanza:
Mother, I am the one You sent away When the Doctor told you I would be A girl-in the end they had to Give me an injection to kill me. Before I died I heard The traffic rushing outside, the monsoon Slush, The wind sulking through Your beloved Mumbai- I could have clutched the neon blue.

Word Meaning: Mother = माँ । Sent away = अस्वीकार करना । Doctor = चिकित्सक । Injection = सूई । Kill = मारना । Before = पहले: Heard = सुना । Traffic – यातायात । Rushing = तेज चाल में चलना । Outside = बाहर ! Monsoon = बरसात । Slush = तेज हवा का झोंका । Sulking = ढीठ । Beloved – पिये। Clutched = पकड़ना।

भावार्थ-अनचाही लड़की की आवाज माँ को सम्बोधित करती है। अनचाही लड़की जो अजन्मी है। माँ के जमीर से सवाल करती है क्योंकि उसने कन्या भ्रूण हत्या की उपेक्षा नहीं की। जब डॉक्टर ने गर्भवती माँ से कहा कि उसे बच्ची पैदा होगी तो उसने डॉक्टर को गर्भ में ही बच्चे को मार डालने का आदेश दिया। अजन्मी बच्ची की हत्या सुई से कर दी गई। यह अजन्मी बच्ची की आवाज है जो कल्पना पर छायी है। यह कविता के रूप में एक जीवित कहानी है। यह मुम्बई की घटना है जहाँ यातायात की भरमार थी और बरसात शुरू हो गई थी। हवा चल रही थी। कवयित्री इस बात को समझ जाती है और इसे अपनी कविता में प्रस्तुत करती है।

Meaning of the Stanza: The voice of the unwanted girl is addressed to the mother. The voice of the unwanted girl questions the mother’s conscience because she did not object female infanticide. When the doctor told the pregnant mother that a girl child would be born to her, she instructed the doctor to destroy the female child in the womb. The infant was killed with the help of injection. This is the pathetic voice of an unborr girl which haunts the imagination. This is a living story in the form of poem. This is the incident of Mumbai where there was heavy traffic and the monsoon set in. The wind is sulking through Mumbai. The poet realised these things and presented it in her poem.

Second Stanza:
No one wanted- No one wanted To touch me – accept later in the autopsy room When they knew my mouth would not search For anything – and my head could be measured. And band and cut apart. I looked like a sliced pomegranate. The fruit you never touched. Mother, I am the one you sent away. When the doctor told you I would be a girl – your second girl. Afterwards, as soon as you could You put on your grass – green saree- The orange stems of the parjatak blossoms glistened in your hair.

Word Meaning: Wanted = चाहना । Touch = स्पर्श । Except = अतिरिक्त । Autopsy room = शव-परीक्षण गृह । Mouth = मुँह । Search = खोजना । Measured = मापा गया । Pomegranate = अनार | Afterwards = इसके बाद । Glistened = चमकता था।

भावार्थ-डॉक्टरी जाँच के रूप में एक मृत व्यक्ति की मेडिकल परीक्षा के कारण का पता चलाने के लिए किया जाता है। जाँच वाले कमरा में गर्भ में अजन्मी बच्ची का जाँच की गयी । डॉक्टर को पता चला कि अजन्मी बच्ची का मुँह किसी तरह नहीं खोजा जाता और उसके सिर माप लिया जाता और काटकर अलग कर दिया । अजन्मी बच्ची को कोई छूना नहीं चाहता। कन्या आगे बताती है कि वह कटे हुए अनार के समान लगती है। यह फल तुम्हारे द्वारा कभी छुआ नहीं गया । वह अपनी माँ को सम्बोधन करती है और कहती है कि यह वही है जिसे उसने हत्या की। जब डॉक्टर ने कहा कि वह एक बच्ची को जन्म देने वाली है। यह दूसरी बच्ची है । बाद में जैसे ही उसने घास के समान हरी साड़ी पहनी तो परीजटक के पीले तने खिल उठते हैं और वह उसके बालों में चमक रहे हैं। यह दुर्घटना उस समय घटी जब डॉक्टर ने माँ को बताया की उसकी दूसरी संतान बच्चा होगी।

Meaning of the Stanza: In an autopsy, room, the medical examination of – a dead person is carried out to discover the cause of death. In the autopsy room, the unborn child in the womb was examined. The doctor knew that the mouth of the unborn child would not search for anything and her head would be measured and cut apart. No one wanted to touch the unborn girl. The girl says further that she looks like a sliced pomegranate. This fruit was never touched by you. She addresses her mother and says that she is the one she killed her. When the doctor told her that she was going to bear a girl child. This is the second girl child. Afterwards as soon as she put on her grass green sari, the orange stems parijatak blossoms and they are glistening to her hair. This tragedy was happened when the doctor told the mother that her second child would be a girl.

Third Stanza:
Afterwards Everyone smiled. But now I ask you To look for me, mother, Look for me because I won’t not come to you in your dreams. Look for me, mother, look Because I won’t become a flower I won’t turn into a butterfly. And I am not a part of anyone’s song.

Word Meaning: Everyone = हर कोई । Smiled = मुस्कुराया। Look for = खोजना | Dream = सपना । Butterfly = तितली।

भावार्थ-हर एक व्यक्ति मुस्कुरा रहा था लेकिन वह अभी अपनी माँ को उसे खोजने के लिए कहती है। उसे जरूर खोजना चाहिए क्योंकि वह उसके सपना में नही आयेगी। वह फिर अपने से कहती है कि वह उसे देखे क्योंकि वह फूल नहीं बनेगी और तितली नहीं होगी । और वह किसी के गाने का अंग नहीं है। अनचाही लड़की कन्याभ्रूण हत्या के बर्बरतापूर्ण अभ्यास का पश्चाताप करती रहती है। अजन्मी कन्या की हत्या ईश्वर की इच्छा के अनुसार नहीं की गई बल्कि सामाजिक दबाव के कारण ।

Meaning of the Stanza: Every one was smiling. But now she asks her mother to look for her. She must look for her because she would not come to her in her dreams. She again tells her mother to look for the girl child because she would not become a flower and she would not turn into a butterfly. And she is not a part of anyone’s songs. The unwanted girl goes on lamenting the cruel practice of female foeticide. The unborn girl child was killed not in accordance with Divine Will but because of social constraints.

Fourth Stanza:
Look, mother, Look for the place where you have sent me. Look for the unspeakable. For the place that can never be described. Look for me, mother, because. This is what you have done. Look for me, mother, because This is not ‘God’s will.’ Look for me, mother Because I smell of formaldehyde- I smell of formaldehyde And still, I wish you would look For me, mother.

Word Meaning: Unspeakable= अकथनीय । Described = वर्णन किया । God’s Will = ईश्वरेक्षा । Smell = गंध । Formaldehyde = एक रंगहीन तीखी गैस ।

भावार्थ-अजन्मी बच्ची फिर अपनी माँ से कहती है कि वह उसे खोजने और उस जगह की तलाश करे जहाँ उसने अपनी बच्ची को भेज दिया है। बिना जीभ के (बोलने में असमर्थ) बच्ची को खोज किया जाना चाहिए । वह उस जगह की खोज करती है जिसे कभी चर्चा नहीं किया जा सकता है। वह अपने को सम्बोधन करती है और देखने के लिए कहती है जिसे उसने किया है। यह काम बिना ईश्वर के इच्छा और सहमति के किया गया है। अजन्मी बच्ची एक गैस के समान थी जिसमें कोई गंध और बिना कोई रंग के होता है और इसे पानी के साथ मिलाकर: प्रयोगशाला में चीजों को सुरक्षित रखने के लिए किया जाता है। लड़की चाहती है कि उसकी माँ उस पर अपनी नजर डाले और वह बार-बार उसे अपनी गलती और बड़े अपराध को समझने के लिए कहती है। . .

Meaning of the stanza: The unborn female child once again tells her mother to look for her and look for the place she has sent her. This unspeakable child must be looked for. She looks for the place that can never be described.
She addresses her mother and look for what she had done. This thing has been done without the disposal and will of God. The unborn girl was like a gas with no colour and a strong smell, used mixed with water to preserve things in the laboratory. The girl wishes to have a look on her and her sin. She again and again tells her to realise her great mistakes as well as a great crime.

Follower Poem Summary in English and Hindi by Seamus Heaney

Follower Poem Summary in English and Hindi Pdf. Follower Poem is written by Seamus Heaney.

Learncram.com has provided Follower Poem Objective Questions and Answers Pdf, Poem Ka Meaning in Hindi, Poem Analysis, Line by Line Explanation, Stanza Wise Summary, Themes, Figures of Speech, Critical Appreciation, Central Idea, Poetic Devices.

Follower Poem Summary in English and Hindi by Seamus Heaney

Follower Written by Seamus Heaney Introduction to the Poem

The Follower is written by an Irish Poet Seamus Heaney. He describes the experiences and feelings of farmer’s son. The poem is in the first person. The farmer’s son is the speaker. He describes how he followed his father when he was ploughing. Then the son grew up. He ploughed the field and his father followed him.

Follower Summary in English

The speaker is a farmer’s son. His father was an expert in ploughing the field. His furrows were straight and equal. His team of horses obeyed his commands. When the son was a child he followed his father when he was ploughing. Often he was not able to walk in the field. He stumbled and fell and cried. His sturdy father would lift him in his arms, set him on his shoulders and continued to plough.

The son learned ploughing. His father grew old and weak. The son ploughed the field. Now, the old man followed him as he ploughed, and would not go away.

Follower Summary in Hindi

प्रस्तुत कविता एक किसान पिता तथा उसके पुत्र के जीवन का सजीव चित्रण है। पुत्र अपने कृषक पिता की कार्यप्रणाली का बड़े रोचक ढंग से वर्णन कर रहा है।

उसका पिता अथक परिश्रम से अपने घोड़ों द्वारा खेतों की जुताई करता है, उसमें फसलें लगाता है। जुताई के समय बालक अपने पिता के साथ अक्सर खेत में जाता है। उसके पिता कभी-कभी उसे घोड़े की पीठ पर चढ़ा देते हैं, कभी-कभी अपने कंधे पर बिठा लेते हैं। वह कभी खेलते हुए गिर पड़ता है उसके पिता उसे उठा लेते हैं । पिता का वात्सल्य स्पष्ट परिलक्षित होता है। उसके पिता कठिन श्रम के कारण पसीना से लथपथ हो जाते हैं, किन्तु वे हार नहीं मानते उनकी पैनी दृष्टि खेत की जुताई एवं बुवाई पर रहती है।

अपने पिता के संघर्षमय जीवन को उनका पुत्र निकट से देखता है। साथ ही उसका बचपन बड़े लाड़-प्यार से व्यतीत हुआ । अब वह युवा हो चुका है। अतः अपने कृषक पिता को उनकी जिम्मेवारियों से मुक्त करना चाहता है । वह स्वयं उनके पदचिह्नों पर चलकर उन सभी कार्यों को जो उनके पिता करते थे, स्वयं करना चाहता है। कभी वे उसे घोड़े पर सवार कर देते थे अथवा अपने कंधे तथा पीठ पर बिठाते थे। वह उनके पीछे-पीछे चलता था । अब उसकी हार्दिक इच्छा है कि वे उसकी पीठ पर खड़े हों अर्थात् उसके पीछे रहकर उसका मार्ग दर्शन करें। वह उनका अनुगामी होना चाहता है।

Follower Poem Hindi Translation

First Stanza:
My father worked with a horse-plough,
His shoulders globed like a full sail strung
Between the shafts and the furrow.
The horses strained at his clicking tongue.

Word Meaning: Horse-plough = घोड़े का हल | Shoulder = कंधा । Globed (a spherical body) = गोलाकार, गठिला । Full sail = भरा हुआ जहाज । Strung = पिरोया | Shafts (two long bars) used for fastening a vehicle to a horse or other animal = घोड़े या किसी की सवारी को बाँधने वाले दो लम्बे छड़ या डंडा । Furrow (the narrow line made by plough) = हल की लकीर | strained (constrained) = खिंचा हुआ, तना हुआ I Clicking (a sharp short sound) = खटके का शब्द । tongue = आवाज ।

Meaning of the Stanza: Here there is the description of a farmer-father and his son. The son of the farmer is the speaker in this poem. The son describes the work of his father in a most interesting manner. He narrates his father’s style of doing work. His father ploughs his land with the help of his horses. He does so to prepare his land for cultivation. His body was very strong. His shoulders resembled the soil on the boats or ships. The horse were well within his control. The horses became ready to work even if he directs them in a slow voice.

भावार्थ-कविता के इस अंश में एक किसान पिता और उसके बेटे का वर्णन है। इसमें ‘किसान का बेटा वक्ता है। पुत्र अपने किसान पिता के कार्यों को बहुत ही रोचक तरीके से वर्णन किया है। पिता अपना खेत दो घोड़ों की सहायता से जोत रहा है। ऐसा वह अपने खेत को कृषि योग्य तैयार करने के लिए कर रहा था। उसका (पिता) शरीर बहुत मजबूत था। उसके कंधे भरे हुए जहाज के समान गठीले थे । उसके घोड़े पूर्णतः अनुशासित थे। किसान की धीमी आवाज से भी घोड़े कार्य करने को तत्पर हो जाते थे।

Second Stanza:
An expert. He would set the wing
And fit the bright steel-pointed sock.
The sod rolled over without breaking.
At the headrig, with a single pluck

Word Meaning: An Expert = कुशल । Wing (side) = छोर । Fit = लगाना । Bright = चमकीला | Steal-pointed sock = लोहे का नोकीला औजार । Sod = घास की भूमि । Headrig = ऊपर के रस्से । Pluck = ऐंठन ।

Meaning of the Stanza: He (the father) was looking like an expert in the work of ploughing the land. He was firm and well determined at his work. He was very particular to guide horses with a long narrow strap (ha) around their neck. The green grass rolled over without breaking during the work of ploughing the land.

भावार्थ-वक्ता के किसान पिता खेत जोतने में कुशल थे । वे अपने काम में दृढ़ एवं स्थिर थे। उसके पिता खेत जोतने वाले घोड़ों की गर्दन में पट्टी बाँधने एवं घोड़ों को दिशा निर्देश देने में बड़े ही कुशल थे। खेत जोतते समय हरी घास बिना किसी रुकावट के बाहर निकल आती थी।

Third Stanza:
Of reins, the sweating team turned round
And back into the land. His eye
Narrowed and angled at the ground,
Mapping the furrow exactly.

Word Meaning: Of reins (long narrow straps) (पट्टी) attached to the bid of a bridle (लगाम) = लगाम से बंधी लम्बी एवं पतली पट्टियाँ । Sweating = पसीना बहाने वाला, परिश्रम करने वाला । Team = दल, टोली । Turned round = थम जाता था। Narrowed (concentrated) = ध्यान से देखता था | Angled = तिरछा । His eyes narrowed and angled at ground = किसान की आँखें जमीन पर ध्यान से केन्द्रित थी। Mapping = जमीन की सही माप । Furrow (फरो) = हल की लकीर । Exactly = ठीक-ठाक ।

Meaning of the Stanza: The farmer was firm and well-determined at his work. He ploughed the land very successfully. While ploughing the land, he was observing the narrow-trench made by plough to see whether it was exactly done in a proper way. He was very particular in ploughing the land. The farmer with his horses was labouring hard. While ploughing, he and his horses very successfully turned round and came back to the land. The eyes of the farmer were concentrated on the ground. He did so to ensure that it was done properly. Here “narrowed and angled” mean to concentrate over the movement of the horses and the work done. The farmer was mapping of the land line very minutely. “Mapping” means the survey of the surface where the work was going on. Here it means the supervision and observation of the ploughing.

भावार्थ-किसान अपने कार्य में दृढ़ एवं स्थिर था। बड़ी कुशलता से वह खेत जोतता था । जोतते समय वह जोती हुई लकीर का बड़ी ही सावधानी से निरीक्षण करता था कि क्या कार्य ठीक ढंग से हो रहा है। वह खेत जोतने में बड़ा ही सावधान एवं कुशल था। किसान अपने घोड़ों के साथ कठिन परिश्रम करता था। खेत जोतते समय किसान एवं घोड़े बड़ी सावधानी से घूमकर खेत में सही जगह पर चले आते थे। किसान की आँखें जमीन पर केन्द्रित थीं। वह ऐसा इसलिए करता था ताकि खेत की जुताई अच्छे ढंग से हो सके। यहाँ “नैरोड एण्ड ऐंगिल्ड” का अर्थ है-घोड़ों की गतिविधि पर ध्यान केन्द्रित करना और यह सुनिश्चित करना कि कार्य सही ढंग से हो रहा है। किसान खेत की क्यारी को बड़े ध्यान से मापता था । नपाई का अर्थ जमीन की सतह का सर्वेक्षण करना होता है। यहाँ इसका अर्थ खेत की जुताई के सर्वेक्षण एवं निरीक्षण से है।

Fourth Stanza:
I stumbled in his hobnailed wake,
Fell sometimes on the polished sod;
Sometimes he rode me on his back
Dipping and rising to his plod.

Word Meaning: Stumbled = ठोकर खाकर गिर गया। Hob-nailed (a nail used in heaving boots) = भारी जूते में व्यवहार आने वाली कांटी। Wake (after something or someone)= किसी वस्तु एवं व्यक्ति के पीछे । Sometimes = कभी-कभी। Polished = चमकीला | Sod = घास भरी जमीन । Rode = घोड़े पर चढ़ा देता था । Dipping = गिरना | Rising = उठना । Plod (moving steps) = चलते हुए पैरों पर।

Meaning of the Stanza: Here in this stanza the speaker is describing what he was doing in his farm when his father was ploughing the land. The speaker is the son of the farmer. He was a young child. The child was playing and making merry. Sometimes he stumbled in his father’s hob-nailed wake; sometimes he fell on the slippery grass-land. Sometimes his father rode him on his back. Again the child was dipping and rising to his father’s moving steps.

भावार्थ-इन पंक्तियों में वक्ता अपने पिता के हल जोतते समय खेत में क्या करता था, उसका वर्णन कर रहा है। वक्ता किसान का बेटा है। वह एक छोटा बालक है। लड़का खेत में खेल रहा था एवं आनंद मना रहा था। कभी-कभी वह अपने पिता के कांटेदार जूते पर गिर पड़ता था। कभी-कभी उसके पिता अपनी पीठ पर चढ़ा लेते थे। फिर वह अपने पिता के चलते हुए पैरों पर गिरता था एवं उठता था।

Fifth Stanza;
I wanted to grow up and plough,
To close one eye, stiffen my arm.
All I ever did was follow
In his broad shadow round the farm.

Word Meaning: Wanted = चाहता था । Grow-up and plough = जवान होने पर खेती करना । Stiffen (Rigid, not soft, hard) = कठोर | Arm= बाँह । Follow= अनुकरण करना । Broad = विस्तृत | Shadow = छाया । Farm = खेत।

Meaning of the Stanza: The child wanted to grow up and plough the land. He thought so to help his father. He remembers his childhood when his father was labouring hard day and night. He has given entire affection to his son. He had done everything what his son asked for in his childhood. The son wants to become the follower of his father because he has become a young man under his shadow. Now he wants to relieve his father from all his duties and responsibilities.

भावार्थ-लड़का बड़ा होना चाहता था और खेती का कार्य करना चाहता था। वह अपने बचपन के दिन याद करता है जब उसके पिता रात-दिन कठिन परिश्रम करते थे। उसके पिता .. ने अपना पूरा स्नेह उसे दिया है। बचपन में उसके पुत्र ने जो कुछ मांग की उसे पूरा किया। पुत्र अपने पिता का अनुयायी बनना चाहता है क्योंकि उन्हीं की छत्रछाया में वह. जवान हुआ है। अब वह अपने पिता को सभी कार्यों एवं उत्तरदायित्वों से मुक्त करना चाहता है।

Sixth Stanza:
I was a nuisance, tripping, falling,
Yapping always. But today
It is my father who keeps stumbling
Behind me, and will not go away

Word Meaning: significant = बेकार की बातें करना । Stumbling (to walk slowly) = धीरे-धीरे चलना ।

Meaning of the Stanza: In the last stanza the speaker repents. He thinks that in his childhood he was a nuisance. He was tripping and falling. He was talking a lot about nothing significant. But today he is young. He has taken all the duties and responsibilities of his father. He has undertaken the work that his father was doing in the past. Now, his father remains behind him and guides him in his work.

भावार्थ अंतिम पारा में वक्ता पछताता है एवं बचपन की अपनी गलती को स्वीकारता है। वह सोचता है कि बचपन में वह बहुत उत्पात मचाता था। खेत में वह ठोकर खाता था और गिरता था । वह बेतुकी बातें किया करता था। लेकिन आज वह युवा है। उसने अपने पिता के सभी कार्यों एवं दायित्वों को स्वयं सम्भाल लिया है। पहले जो कार्य उसके पिता करते थे, उन सभी कार्यों को वह स्वयं करता है। अब उसके पिता उसके कार्यों में पीछे-पीछे चलते हैं और उसे उसके कार्यों में सुझाव देते हैं।

Village Song Poem Summary in English and Hindi by Sarojini Naidu

Village Song Poem Summary in English and Hindi Pdf. Village Song Poem is written by Sarojini Naidu.

Learncram.com has provided Village Song Poem Objective Questions and Answers Pdf, Poem Ka Meaning in Hindi, Poem Analysis, Line by Line Explanation, Stanza Wise Summary, Themes, Figures of Speech, Critical Appreciation, Central Idea, Poetic Devices.

Village Song Poem Summary in English and Hindi by Sarojini Naidu

Village Song by Sarojini Naidu About the Poet

Sarojini Naidu (1879–1950) is known as the Nightingale of India. She was as patriot and took active part in the National Movement.

Her poems describe Indian scenes beautifully. The village song has an Indian rural setting. A girl goes to the bank of the Jamuna to fill a pitcher of water. There she hears a boatman singing a melodious song. She was so fascinated by the song that she did not notice that the sun had already set and it was getting dark. She was scared as she went homeward on a lonely path.

Village Song Written by Sarojini Naidu Introduction to the Poem

The poem depicts the atmosphere of the place and her feelings. The speaker is a young girl. She came to the bank of the Jamuna to fill pitchers with water. As she is about to go back home, she hears the song of a boatman. The song is sweet and touching. She is fascinated by the song.

Village Song Summary in English

The speaker is a young girl. She came to the bank of the Jamuna to fill pitchers with water. As she is about to go back home, she hears the song of a boatman. The song is sweet and touching. She is fascinated by the song. She stops and listens to it till night falls. Then she feels regret at having stopped to listen to the song. It is dark now. She hears the white crane calling. She hears the hoot of an owl.

There is no moonlight. She is afraid a snake might bite her and she would die. She thinks that her mother and her brother are waiting for her at home. Her brother would be complaining why she has taken so long coming back home. Her mother must be worried about her safety. Once again the fear returns to the girl’s mind. She is afraid a storm might come. There is no place for her to protect herself from rain and lightning. She is afraid she would die.

Village Song Summary in Hindi

वर्णनकर्ता एक युवती है। वह जमना के किनारे घड़ों में पानी भरने आई है। जब वह लौटने लगती है तो उसे एक नाविक का गीत सुनाई पड़ता है। गीत मधुर और मन को छूने वाला है। वह गाने से मुग्ध हो जाती है । वह उसे रात पड़ने तक सुनती रहती है। तब उसे पश्चाताप होता है कि वह गीत सुनने के लिए क्यों रुकी।

अब अंधेरा हो गया है। उसे श्वेत बगुले की पुकार सुनाई पड़ती है। उसे उल्लू की सीटी सुनाई पड़ती है। चाँद का प्रकाश भी नहीं है। उसे डर लगता है कि कोई साँप उसे काट लेगा और वह मर जाएगी।

वह सोचती है कि घर पर उसका भाई और माँ उसकी प्रतीक्षा कर रहे होंगे। उसका भाई शिकायत कर रहा होगा कि उसे घर लौटने में इतनी देर कैसे हो गई है। उसकी माँ को उसकी सुरक्षा की चिंता हो रही होगी।

एक बार फिर उसके मन में भय आ जाता है। उसे डर है कि तूफान आ सकता है। वहाँ कोई भी स्थान नहीं है जहाँ वह बिजली व वर्षा से बच सके । उसे डर है कि वह मर जाएगी।

Village Song Poem Hindi Translation

First Stanza:
Full are my pitchers and far to carry,
Lone is the way and long,
Why, O why was I tempted to tarry
Lured by the boatmen’s song?

Word Meaning: Pitcher= घड़ा । Lone (lonely, deserted)= निर्जन । Tempted = प्रलोभित होना, ललचना । To tarry (to stay, to delay) = रुकना, देर करना । Lured – (charmed) = ललचना । boatmen = नाविक । Song = संगीत ।

Meaning of the Stanza: The speaker is carrying a pitcher full of water. She is a girl. She is carrying the pitcher from a long distance. The way through which she is carrying it is deserted. In the way, some boatmen were singing. The girl (the speaker) was charmed with the sweet song of the boat men. So she was tempted to make delay. The girl asks from herself why she is charmed with the songs of the boatmen and why she is making delay. It means that the girl had very much passion for the boatmen’s song.

भावार्थ-वक्ता पानी से भरा घड़ा ले जा रही है। वह एक लड़की है। वह घड़े को दूर से ला रही है। जिस रास्ते से वह घड़े में पानी ला रही है, वह निर्जन है। रास्ते में कुछ नाविक संगीत गा रहे थे। लड़की नाविकों के मीठे संगीत से मुग्ध थी। इसके कारण उसे देर हो रही थी। वह स्वयं से प्रश्न करती है कि वह क्यों नाविकों के संगीत से मुग्ध है और क्यों देर कर रही है। अर्थात् लड़की नाविक के गीत से बहुत ही प्रभावित थी।

Second Stanza:
Swiftly the shadows of night are falling,
Hear, O hear, is the white crane calling,
Is it the wild owl’s cry?

Word Meaning: Swiftly (quickly and smoothly) = शीघ्रता से, वेग से। Shadow = छाया । Crane = सारस । Wild = जंगली | Owl = उल्लू ।

Meaning of the Stanza: Swiftly the shadows of night are falling. In other words, the fall of night is followed by the dark shadows. The night is swiftly and smoothly passing through. A white crane is crying out in the darkness. The cry of the wild owl is being heard, which is not pleasing to the ear.

भावार्थ-रात्रि की छाया शीघ्रता से फैल रही है। अर्थात् रात्रि का आगमन शुरू हो गया है। अंधेरे में उजले सारस की चिल्लाहट आ रही है । जंगली उल्लू की चिल्लाहट भी सुनाई पड़ रही है। उल्लू की चिल्लाहट कान को अप्रिय लग रही है।

Third Stanza:
There are no tender moonbeams to light me,
If in the darkness a serpent should bite me,
Or if an evil spirit should smite me,
Ram re Ram! I shall die.

Word Meaning: Tender (gentle)= कोमल । Moon beams (ray of moonlight) = चन्द्रमा के प्रकाश की किरण । Darkness = अँधेरा | Serpent = साँप । Bite = काँटना । Evil spirit = प्रेत आत्मा । Smite (cut, slice) = मारना ।

Meaning of the Stanza: The gentle moon-light is not throwing its beams. The serpent may bite her in the darkness. The evil spirit may cut her body into pieces. The scene is, of course, horrible. The poet has painted a lively picture. So, all these things have created a feeling of death in her mind. In these circumstances she utters “Ram Re Ram” remembering God to help her at such a crucial time.

भावार्थ-कोमल चन्द्रमा के प्रकाश की किरणें अपना प्रकाश नहीं बिखेर रही हैं। अँधेरे में उसे साँप काट सकते हैं । प्रेत आत्माएँ उसके शरीर के दो टुकड़े कर सकते हैं। वास्तव में, वहाँ का दृश्य भयावह हैं। कवि ने रात के अंधेरे का सजीव दृश्य प्रस्तुत किया है। अतः ये सभी चीजें उसके मन में मृत्यु का भय उत्पन्न करती हैं। ऐसी स्थिति में “राम रे राम” का उच्चारण कर इस विषम परिस्थिति में सहायता हेतु ईश्वर को याद करती है।

Fourth Stanza:
My brother will murmur, ” Why doth she linger? ”
My mother will wait and weep,
Saying, ” O safe may the great gods bring her,
The Jamuna’s waters are deep. ” …

Word Meaning: Murmur (speak softly) = धीरे से बोलना | doth = does, linger = delay leaving = देर तक घर से बाहर रहना | wait = ठहरना, इंतजार करना।

Meaning of the Stanza: The girl again thinks that her brother would be mentally upset and worried for her. Her mother would be waiting and weeping and praying to God her safe return. Jamuna’s water is deep.

भावार्थ-लड़की फिर सोचती है कि उसका भाई उसके लिए मानसिक रूप से उद्विग्न एवं चिंतित होगा। उसकी माँ उसकी राह देखती होगी एवं रोती होगी। वह ईश्वर से प्रार्थना करती होगी कि उसकी बेटी सुरक्षित घर वापस आ जाय । यमुना का पानी बहुत गहरा है।

Fifth Stanza:
The Jamuna’s waters rush by so quickly,
The shadows of evening gather so thickly,
Like black birds in the sky …

Word Meaning: Rush by = तेजी से बहना । So quickly = बहुत तेजी से। Shadows = छाया । Gather = जमा होना । So thickly = बहुत घना । Black birds = काले पक्षी।

Meaning of the Stanza: Her mother further thinks that the Jamuna’s waters are very deep and flowing very fast. How can see cross the river? Like black birds in the sky, the darkness in the evening in increasing very fast.

भावार्थ उसकी माँ यह सोचकर और भयभीत होती है कि यमुना नदी का पानी बहुत गहरा है। साथ ही नदी की धारा बहुत तेज है । ऐसे में वह यमुना नदी पार कैसे करेगी । साथ ही आकाश अंधेरा तेजी से छा रहा है। ऐसा लगता है कि आकाश में काले पक्षी घूम रहे हैं। .

Sixth Stanza:
O! if the storm breaks, what will betide me?
Safe from the lightning where shall I hide me?
Unless Thou succour my footsteps and guide me,
Ram re Ram! I shall die.

Word-Meaning: Storm = तूफान । Betide (to come to misfortume)= संकट में पड़ना, दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति । Lightning (an electric flash in the clouds) = बिजली का कड़कना । Hide = छिपना । Thou= तुम (ईश्वर) | Succour (help) = सहायता । Guide = रास्ता दिखाना।

Meaning of the Stanza: The girl is horrified. The girl had two apprehensions on her way back. The first was that storm might break anytime. Then she asks herself as to who would be helping her. Second, when there would be lightning who would hide and save her. Then she prays to God to guide her at the time of her distress. She also requests Him (God) to provide. her strength in her footsteps, so that she may get rid of the danger. She says to God that if ‘He’ will not help her, she will die. She again uses the words “Ram Re Ram”.

भावार्थ-लड़की भयभीत है। घर जाने के रास्ते में उसे दो आशंकाएं हैं-पहली आशंका थी कि तूफान कभी भी आ सकता है। तब वह अपने आप से पूछती है कि तब उसे कौन सहायता करेगा। द्वितीय, जब बिजली कड़कगी ता कौन उसे छिपायेगा एवं बचायेगा? तब वह ईश्वर की प्रार्थना करती है कि हे ईश्वर! इस संकट की घड़ी में मुझे मार्गदर्शन करें। साथ ही, वह ईश्वर से प्रार्थना करती है कि वह उसकी कदमों में ऐसी शक्ति प्रदान करे कि कह खतरे से मुक्ति पा सके। वह ईश्वर से कहती है कि यदि वह (ईश्वर) उसकी सहायता रहीं करेगा तो वह मर जायेगी। वह फिर “राम रे राम” जैसे शब्दों का प्रयोग करती है।